कश्मीर से सभी पर्यटकों को बाहर निकलने को कहा गया, वजह भी जान लो

1691

जम्मू कश्मीर में इन दिनों में हालत काफी ज्यादा हालात खराब हो चले है क्योंकि दिन ब दिन सारे के सारे देश के खिलाफ चलने वाले संगठनों के खजाने खाली हो रहे है और उनकी कमर तोड़ी जा रही है. आप चाहे तो इनके साथ में मुफ़्ती और अब्दुल्लाह परिवारो को भी जोड़ सकते है जो लगातार कश्मीर पर काबिज रहने के सपने देखते है मगर अब कश्मीर में राज्यपाल शासन और गृहमंत्रालय का जोर चल रहा है जिसके चलते मामला थोडा संवेदनशील हो गया है और हाल ही में एक एडवाईजरी जारी की गयी है.

जम्मू कश्मीर प्रशासन ने जारी की एडवाईजरी, टूरिस्ट्स कश्मीर छोडकर चले जाये
जम्मू कश्मीर प्रशासन ने लिखित में एक एडवाईजरी जारी की है जिसमे प्रिनिपल सेक्रेटरी तो गवर्नमेंट के दस्तखत भी है. उन्होंने साफ़ साफ़ कहा है कि जो भी टूरिस्ट घाटी में अमरनाथ यात्रा आदि के इरादे से आये है वो जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी अपना काम करे और कश्मीर से निकल जाये. उन्होंने कहा है कि ये सब पर्यटकों की सुरक्षा के मद्देनजर ही किया जा रहा है.

हमले की आशंका या सरकार की कुछ और ही मंशा?
अभी हाल ही में कश्मीर में एक बहुत ही अत्याधुनिक स्नाइपर मिली है जो किसी की भी जान डेढ़ किलोमीटर दूर से भी ले सकती है. इसे भी एक खतरा माना जा रहा है कि ऐसी चीजे लिए देश के दुश्मन कही घाटियों में घूम रहे हो सकते हो वही एक वजह ये भी हो सकती है कि सरकार अभी कश्मीर में परिसीमन या कुछ कानूनी बदलाव से जुड़े काम देखना चाहती हो जिसके चलते पर्यटकों को भी नुकसान हो सकता है अगर कश्मीर में ऐसा कुछ होता है तो हो हल्ला हुडदंग भी हो सकता है तो पर्यटकों का न होना ही सबसे बेहतर कहा जायेगा.

सरकार पहले ही एयरफाॅर्स और इंडियन आर्मी को अलर्ट पर कर चुकी है. घाटी में दस हजार अतिरिक्त जवान तैनात किये गये है और तो और सरकार के तेवर भी कुछ बदले बदले से नजर आ रहे है जो महबूबा मुफ़्ती के लिये टेंशन का सबब जरूर बना हुआ है.