दिग्विजय संसद में बोले ‘मुझे जेल में डालना चाहती है सरकार’ शाह ने दिया मजेदार जवाब

365

दिग्विजय सिंह का नाम अच्छा ख़ासा पोपुलर रहा है और सही बातो पर कम उनका नाम विवादों में ज्यादा चलता है इस बात में कोई भी शक नही है मगर अब वो बयानबाजी कम करते है क्योंकि पार्टी ने उन्हें चुप करा रखा है लेकिन इस बार वो बोल ही पड़े और उनके बोलने के पीछे की वजह था भाजपा की तरफ से पेश किया गया वो बिल जिसने देश के खिलाफ काम कर रहे लोगो की हालत खराब करके रख दी है. सरकार ने यूएपीए बिल पेश किया गया है जिसमे एनआईए जांच एजेंसी को और ज्यादा शक्तियां दी जा रही है. विपक्ष ने आरोप लगाये इससे एजेंसियां निरंकुश हो सकती है.

दिग्विजय सिंह बोले मुझे ही सबसे पहले जेल में डालोगे
जब सदन में दिग्विजय सिंह को बोलने का मौक़ा मिला तो उन्होंने इस यूएपीए के बिल पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि इसका दुरूपयोग भी हो सकता है. मेरा केस ही ले लो भीमा कोरेगांव केस में मेरा फोन नम्बर उन लोगो के पास मिला था तो मुझे निशाना बनाया गया जबकि मेरा नम्बर तो राज्यसभा की वेबसाइट पर उपलब्ध है. मुझे मालूम है अगर ऐसा कुछ कानून बना तो आप मुझे ही जेल में डालोगे.

अमित शाह ने दिया जवाब
गृहमंत्री अमित शाह ने इस पूरे मसले पर दिग्विजय सिंह का जवाब देते हुए कहा कि अगर अगर दिग्विजय सिंह चाहते हैं मैं आश्वासन दूं तो मैं आश्वासन भी दे रहा हूँ अगर आप कुछ नही करोगे तो आपको कुछ भी नही होगा. किसी के खिलाफ एनआईए के बड़े स्तर के एक्शन लेना या उसे आतकी घोषित कर देना इतना आसान नही होगा. इसमें हमने अपील की व्यवस्था भी रखी है और जो कुछ भी होगा पारदर्शी तरीके से ही होगा तो डरने की कोई जरूरत नही है.

आखिरकार इस पूरी बहस के बाद में भारतीय जनता पार्टी ने पूरे बहुमत के साथ में यूएपीए बिल को भी सदन से पास करवा लिया जिसके बाद में उनकी जांच एजेंसियों की ताकत बढ़ गयी है. उनके लिए देश के खिलाफ काम करने वालो को अंकित करना और एक्शन ले पाना पहले की तुलना में और अधिक आसान हो जायेगा.