एक और नयी मुसीबत में फंस गये आजम खान, पुलिस ने मारा छापा

470

आजम खान इन दिनों में ऐसी मुसीबतों से घिरे हुए है जहाँ से उनके लिए निकल पाना लगभग लगभग असंभव ही नजर आ रहा है. आपको ये तो मालूम ही होगा कि आजम खान ने अभी हाल ही में 29 जुलाई को सदम में खड़े होकर के बीजेपी सांसद रमादेवी से माफ़ी मांगी थी क्योंकि उनके द्वारा उनके लिए कुछ गलत शब्द सदन की कार्यवाही के दौरान ही उपयोग में लाये गये थे. मगर सदन के विरोध के बाद में उन्हें झुकना पडा. अभी आजम इन सबसे निकल ही नही पाए थे कि पुलिस का एक और चक्कर आजम के सर पर आ पडा है.

आजम की यूनिवर्सिटी पर छापा, 4 लोग हिरासत में
आपको मालूम तो होगा ही कि आजम खान अपनी एक यूनिवर्सिटी बना रहे है जिसका नाम है जौहर यूनिवर्सिटी. काफी बड़ी और भव्य थी लेकिन गलत कर्मो पर बन रही थी. हाल ही में इसी पर पुलिस ने छापा मारा है और इस छापेमारी में 1774 में रामपुर के मदरसे से चोरी हुई बेशकीमती और महँगी महँगी लगभग 300 किताबे जब्त की गयी है. पूरे केम्पस को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है और जांच की जा रही है. कुल चार लोगो को अरेस्ट किया गया है और आले हसन जो इस यूनिवर्सिटी के प्रबंधक है उन्हें नोटिस भेजा गया है.

पहले से ही मंडरा रहे है यूनिवर्सिटी पर खतरे के बादल
जौहर यूनिवर्सिटी पर पहले से ही खतरे के बादल मंडरा रहे है. किसानो ने कोर्ट में केस फाइल कर रखा है कि उनसे जमीने जबरन लेकर के उसपर ये केम्पस बना है. ऊपर से रामपुर प्रशासन ने भी एसडीएम कोर्ट से आर्डर हासिल कर लिया है कि आजम की जमीन से सार्वजनिक रास्ते वाली जमीन को अलग किया जाए. इससे यूनिवर्सिटी का काफी हिस्सा टूट जाएगा, इसके लिए इसका गेट भी तोडा गया है.

इधर आजम फंसे है उधर आजम के बेटे अब्दुल्लाह की भी मुसीबते बढ़ गयी है. उनपर पासपोर्ट बनाने के लिए गलत दस्तावेज देने के आरोप लगे है जिसके चलते उन्हें भी थाने और कोर्ट के चक्कर लगाने पड़ सकते है तो मामला ये है कि आजम खान के पूरे खानदान को फ़िलहाल चैन नही है.