जम्मू कश्मीर में बीजेपी ने बुलायी अचानक बैठक, आखिर ऐसा क्या करने जा रही हैं सरकार?

402

जम्मू कश्मीर में इन दिनों कुछ ज्यादा ही सस्पेंस बना हुआ है और ये दिन ब दिन बढ़ता ही चला जा रहा है. केंद्र सरकार ने पहले तो राष्ट्रपति शासन को जम्मू कश्मीर में बढ़ा दिया इसके बाद में अमित शाह ने जम्मू कश्मीर में परिसीमन शुरू करवा दिया ताकि बीजेपी जम्मू कश्मीर में सत्ता में आ सके और इसे कूटनीति कहा जा रहा था मगर अभी हाल ही में जो हुआ है उसके बाद में सत्ता के गलियारों में परेशानी लोगो के बीच में काफी बढ़ गयी है. चलिए फिर पूरा मसला सिलसिलेवार तरीके से समझने की कोशिश करते है.

बीजेपी दिखी पिछले महीने में कश्मीर पर आक्रामक, अतिरिक्त फौजी भी किये तैनात
पिछले एक महीने के वक्त में बीजेपी कश्मीर पर काफी तेज तर्रार रूख अपनाए हुए है. पहले अमित शाह ने कहा कि 370 कोई स्थायी नही है. इसके बाद अब प्रधानमंत्री मोदी ने 28 जुलाई को की मन की बात में भी कश्मीर पर ही जोर देते हुए कहा कि कश्मीर को हम विकास देंगे और काफी कुछ देंगे. वहाँ से जो भी परेशानी है उसे खत्म कर देंगे. उन्होंने अपनी बातो में काफी कुछ जाहिर किया है साथ ही साथ में कश्मीर में जम्मू कश्मीर में अतिरिक्त 10 हजार जवान भी तैनात किए है.

30 जुलाई को बुलायी मीटिंग, कश्मीर पर होगी केन्द्रित और हाई कमान रहेगा मौजूद
भारतीय जनता पार्टी ने अभी एक और बहुत ही गहन मंथन के लिए 30 जुलाई को जम्मू कश्मीर में ही एक बीजेपी की मीटिंग बुलाई है जिसमे भारतीय जनता पार्टी के बड़े चेहरे जो जम्मू कश्मीर से आते है वो तो होंगे ही लेकिन साथ ही साथ में मोदी और शाह भी होंगे. इस पूरी मीटिंग में कश्मीर के हालात को काबू करने, धरा 370 या फिर 35ए के सम्बन्ध में कुछ बड़े निर्णय भी सामने आ सकते है क्योंकि ये निर्णय तभी लिए जा सकते है जब लोकल बीजेपी पूरी स्थिति से केन्द्रीय भाजपा को अवगत करवाए तो इस मीटिंग के अच्छी खासी उम्मीदे है.

महबूबा है बेहद परेशान
महबूबा मुफ़्ती भाजपा की इन हरकतो से बेहद ही परेशान है. इतनी परेशान है कि पब्लिक में बीजेपी को धमकाते हुए ये कह दिया कि 35ए से छेड़छाड़ करने की कोशिश भी मत करना. महबूबा की ही तरह का डर बाकी कश्मीरी नेताओं की बातो में भी नजर आता है जो बताता है बीजेपी कुछ तो बड़ा करने जा रही है जिसे लेकर के इतनी परेशानी हो रही है.