राजनाथ सिंह ने ऐसी बात कही, जीडी बख्शी बोले ‘ये सुनने को हम फौजियों के कान तरस गये थे’

1309

भारत और पाकिस्तान के बीच में विवाद पिछले 70 साल से चल रहा है जब से दोनों ही मुल्क आजाद हुए है तब से दोनों के बीच में कई लडाइयां हुई और हर बार पाकिस्तान को पीछे हटना पडा है. हाँ ये बात जरूर है कि राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी के चलते ही भारत पाक पर पूरी तरह से कब्जा नही कर पाया जैसे चीन ने तिब्बत को कब्जा रखा है. ऐसी स्थिति में अब पिछले एक दशक में भारत में बड़ी तेजी से बदलाव आया और देश के रक्षामंत्री ने ऐसी बाते कही है जो भारतीय फ़ौज का जज्बा और भी ज्यादा बढ़ा देने वाला है.

करगिल विजय दिवस पर बोले राजनाथ सिंह
26 जुलाई यानी कारगिल विजय दिवस वो दिन है जब भारत ने पाकिस्तान को कारगिल से खदेड़ते हुए करगिल पर विजय हासिल की थी. आज इस बात को 20 साल गुजर चुके है और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह इस मसले पर बोले है. राजनाथ सिंह ने कहा ‘ कारगिल के युद्ध में विजय के बाद में भारत की सेनाओं का तेजी से आधुनिकरण किया गया है. हम कोई लड़ाई करना नही चाहते है लेकिन अगर ऐसा कुछ होता है तो पिछली बार से भी बड़ी और बेहतर विजय हासिल करेंगे.’

राजनाथ सिंह ने अपने इरादे साफ़ करते हुए कहा अगर पाकिस्तान को अब हमसे बात करनी है तो कश्मीर पर नही बल्कि सिर्फ पीओके पर बात होगी जिस पर पाक ने जबरदस्ती का कब्ज़ा किया हुआ है. राजनाथ सिंह ने पाक पूर हर तरह से अविश्वास जताते हुए कहा वाजपेयी सरकार ने पाक से बेहतर सम्बन्ध बनाने की हर कोशिश की लेकिन इसके बावजूद वो बाज नही आया है. अब वो जिस भाषा में समझता है हम उसी में ही समझा रहे है. सेना के आधुनिकरण की प्रक्रिया चल ही रही है.

रिटायर्ट आर्मी अफसर ने इंडिया टुडे के द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में राजनाथ सिंह के इस बयान पर बेहद ही खुसही जताई और कहा रक्षामंत्री ने जो बात कही है वो सुनने के लिये तो हम फौजियों के कान लम्बे अरसे से तरस गये थे. उन्होंने सेना की तरफ से सरकार के लिए काफी भरोसा भी जताया.