बुरे फंसे आजम, इस वजह से जीतने के बाद भी जा सकती है लोकसभा सदस्यता

495

कभी देश के सबसे बड़े सूबे यूपी के सबसे बड़े सुपर सीएम कहे जाने वाले आजम खान की हालत इन दिनों बड़ी ही खस्ता हो चली है. वो इन दिनों इतनी सारी मुसीबतों से घिर चुके है जिनसे पार पाना अब बेहद ही मुश्किल होगा. आखिर आजम खान के साथ में ऐसा क्या कुछ हो रहा है? पहली बात तो सभी जानते है कि आजम खान पर दर्जनों किसानो ने अपनी जमीन हड़पने के मुकदमे दायर कर दिए है. प्रशासन उनके खिलाफ कोर्ट में पहुँच गया जिसके बाद उन पर कोर्ट ने न सिर्फ करोड़ो का जुर्माना लगाया है बल्कि आजम की यूनिवर्सिटी का अवैध कब्जा हटाने के लिए उनकी यूनिवर्सिटी का गेट तोड़ने का आदेश तक दे दिया गया है. मगर एक और मुसीबत है जो उन्होने मोल ले ली है.

70 साल की महिला सांसद को सबके सामने छेड़ रहे थे आजम
आजम खान लोकसभा की कार्यवाही के दौरान बोल रहे थे और तभी आजम ने महिला सांसद जिनका नाम रमा देवी है उनके लिए अभद्र टिपण्णी करते हुए कहा ‘आप मुझे इतनी प्यारी लगती है कि मेरा मन करता है मैं आपको तब तक देखूं जब तक आप ये न कहो नजर हटा लो’. आजम खान के इस बयान पर अच्छा ख़ासा बवाल हुआ और उनसे माफ़ी मांगने को कहा गया लेकिन आजम ने माफ़ी मांगने से इनकार कर दिया.

रमा देवी ने की आजम खान की सदस्यता खत्म करने की मांग
रमा देवी आजम खान की इन बातो से कुछ ज्यादा ही आहत है. रमा देवी ने आजम के जवाब में कहा ‘आजम खाने ने कभी भी महिलाओ की इज्जत नही की है. उन्होंने जयाप्रदा जी के बारे में भी गलत बोला है. इन सबके बाद में उन्हें संसद में बैठने का कोई भी अधिकार नही है मैं स्पीकर महोदय से रिक्वेस्ट करूंगी कि वो आजम खान की सदस्यता को रद्द कर दे.

क्या वाकई में ऐसा संभव है?
हाँ बिलकुल संभव है. अगर संसद में किसी व्यक्ति को संसदीय विचारों, संस्कारों या फिर व्यवहार के अनुकूल नही पाया जाता है या फिर उसके कहने बोलने का तरीका अनुकूल न हो तो संसद में एक एथिक्स कमिटी बैठती है जिसमे स्पीकर की मर्जी से किसी भी लोकसभा सदस्य को लम्बे समय के लिए निलंबित किया जा सकता है और अभी संसद में इस पर विचार भी हो रहा है.