बंगाल में जबरदस्ती लगवाये ‘जय ममता’ के नारे, रोका तो प्रोफेसर का किया ऐसा हाल

52

बंगाल में इन दिनों राजनीति के क्षेत्र में जो कुछ भी हो रहा है वो किसी से भी छुपा हुआ नही है. टीएमसी और बीजेपी दोनों ही पार्टियों के बीच में जो तकरार चल रही है उसका खामियाजा बंगाल के बच्चो, बूढों, स्टूडेंट्स और शिक्षको को भी भुगतना पड़ रहा है. ऐसे में ऐसा लगने लगा है मानो किसी की जान की तो कोई कीमत ही नही रह गयी है. आये दिन कोई न कोई अपने जीवन की आहुति दिये जा रहा है और  सत्ताधीशो को कोई फर्क ही नही पड़ता. अब इसकी आग फैलते फैलते बंगाल के कॉलेजो तक भी पहुँच गयी हैं.

छात्राओं को नारे न लगाने पर पीटा, प्रोफेसर को भी कर दिया बेहाल
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कॉलेज के केम्पस में कुछ छात्राएं सेल्फी ले रही थी तभी कुछ टीएमसी के समर्थक आये और उन्हें जय ममता के नारे लगाने को मजबूर किया. ऐसा न करने पर उनसे धक्का मुक्के करने लगे, पिटाई भी हो गयी और जब वहाँ के प्रोफेसर सुब्रत चरर्जी बीच में पड़े तो उन्हें भी पकड़कर के पीट दिया गया जिससे आहत होकर के वो नीच गिर गये. उनकी हालत खस्ता थी. वो सिर्फ कॉलेज केम्पस में इस तरह की हरकतों का विरोध कर रहे थे.

ऐसा पहली बार नही है कि ममता बनर्जी के खिलाफ बोलने पर या उनकी विचारधारा का साथ नही देने पर किसी के साथ ऐसा हुआ हो. एक प्रोफेसर को महज ममता बनर्जी का कार्टून फॉरवर्ड करने के लिए जेल में जाना पडा था, बीजेपी की नेता प्रियंका शर्मा को भी ममता बनर्जी की एक फनी फोटो पोस्ट करने के लिए जेल जाना पड़ा. कई बीजेपी कार्यकर्ता है जिनके घर में घुसकर उनकी जान ले ली गयी. ये सब बंगाल में काफी हद तक आम हो रखा है जिसके चलते जनता में डर का माहौल है.

2021 के लिए है सारी तैयारी
बंगाल में इन दिनो में जो कुछ भी हो रहा है सारी आने वाले चुनावों की तैयारी है जो 2021 में होने जा रहे है. ममता बनर्जी के हाथो से सत्ता खिसक रही है और इस वजह से टीएमसी अपना पूरा जोर लगा रही है और इसके चक्कर में पिस बेचारी बंगाल की जनता रही है.