साध्वी प्रज्ञा को पड़ी बीजेपी कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से फटकार, दिया था ये विवादित बयान

200

साध्वी प्रज्ञा शुरू से ही विवादों से अपना नाता रखे हुए है. उन्हें भारतीय जनता पार्टी ने भोपाल लोकसभा सीट से टिकट मिला था और उन्होंने मोदी लहर की बदौलत चुनाव जीत भी लिया लेकिन अब जब से वो राजनीति में आयी है तब से बीजेपी के लिये बहुत ही ज्यादा मुश्किलें खड़ी कर दे रही है. साध्वी प्रज्ञा ने चुनावों से ठीक पहले गोडसे को महान बता दिया था जिसके चलते विपक्ष को बीजेपी को घेरने का मौका मिल गया और मीडिया पूरी पार्टी के पीछे पड़ गया. पूरी हाई कमान ने जैसे तैसे लोगो में अपने खिलाफ खबर फैलने से खुदको बचाया और अब एक बार फिर से साध्वी वही कर रही है.

शौचालय और सफाई पर दिया था विवादित बयान
जिला स्तर के अपने कार्यकर्ताओं की मीटिंग को संबोधित करते हुए मीडिया के सामने ही साध्वी प्रज्ञा ने कह दिया था कि हम कोई नाली साफ़ करने या फिर शौचालय साफ़ करने के लिए या ऐसे किसी काम के लिए नही है. जिसका काम ये है वो लोग करे हम तो हमारा जो काम है वही इमानदारी से करेंगे. साध्वी प्रज्ञा का ये बयान काफी वायरल हुआ और इसे पीएम मोदी के सफाई और शौचालय के विरोध में देखा जाने लगा.

जेपी नड्डा ने किया तलब, पड़ी फटकार
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जेपी नड्डा जो कि बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष है उन्होंने साध्वी प्रज्ञा से मीटिंग की और उन्हें इस तरह के बयान भविष्य में न देने की भी हिदायत दी. अगर वो ऐसा कुछ करती है तो उन्हें नोटिस थमाने के साथ ही साथ में बीजेपी उनके खिलाफ कार्यवाही भी कर सकती है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी में अनुशासनहीनता किसी भी एंगल से बर्दाश्त नही की जाती है चाहे फिर वो कोई बड़ा दिग्गज सांसद ही क्यों न हो? ऐसे में प्रज्ञा ठाकुर को आगे से सोच समझकर बोलने के लिए कहा गया है.

उम्मीद है साध्वी प्रज्ञा ठाकुर इन बातो को थोडा गौर से लेगी और चीजो को बेहतर तरीके से हेंडल करना सीख लेगी. खैर इन सब चीजो के बाद में दिक्कत ये है कि विपक्ष को बैठे बिठाए बीजेपी के खिलाफ बोलने का मौक़ा मिल जाता है जो कि पार्टी बिलकुल भी नही चाहती है.