जिस मोदी की वजह से साध्वी प्रज्ञा सांसद बनी, अब उन्ही के उलट बयानबाजी कर रही है

815

साध्वी प्रज्ञा देश की सबसे विवादित सांसदों में से एक है और उनके बयान हमेशा से ही विवादों का सबसे बड़ा अड्डा रहे है. साध्वी ने पहले तो कई साल जेल में काटे है और उसके बाद में वो भारतीय जनता पार्टी की मदद से राजनीति में आयी और उन्हें भोपाल से टिकट मिला. वो मोदी लहर में चुनाव जीत भी गयी लेकिन इस दौरान उनके कई विवादित बयान देखने में आये और वो अब तक रूकने का नाम नही ले रहे है. एक बार फिर से साध्वी का ऐसा ही एक बयान फिर से वायरल हो रहा है.

शौचालय और सफाई पर दिया विवादित बयान
साध्वी प्राची ने हाल ही में मीडिया के सम्मुख काफी विवादास्पद बयान दे दिया है. साध्वी ने बड़े ही मुखर होकर के कहा ‘ हम यहाँ पर नाली साफ करवाने के लिए या फिर शौचालय साफ़ करने के लिए सांसद नही बने है. जिसका काम है वो लोग ये करे. हम लोग जिस काम के लिए है वो काम पूरी ईमानदारी के साथ करेंगे.’ इस बयान से सीधा सीधा सम्बन्ध प्रधानमंत्री मोदी का बताया जा रहा है और पार्टी में चल रही ये खटपट सामने आ गयी है जो साध्वी के करियर को धक्का लगा सकती है.

प्रधानमंत्री मोदी के एजेंडे में है सफाई और शौचालय
साध्वी प्राची ने जिस शौचालय और नाली से आपत्ति जताई है वो तो पीएम मोदी के सबसे बड़े लक्ष्य में शामिल है. उन्होंने खुद सफाई के लिए झाडू उठा लिया था. वो देश भर में शौचालयों का निर्माण करवा रहे है जिनकी संख्या करोडो में है. यही नही प्रधानमंत्री अपने सांसदों को भी अपने क्षेत्र में सफाई के सम्बन्ध में निर्देश देते रहते है लेकिन साध्वी ने जिस तरह से साफ़ सफाई के सम्बन्ध में अपना पल्ला झाड़ लिया है उसके बाद में इसे पीएम मोदी के अपमान के तौर पर देखा जा रहा है.

इससे पहले भी वो नाथूराम गोडसे को देश का हीरो बता चुकी है तो प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था वो साध्वी को कभी दिल से माफ़ नही कर पाएंगे. इसके बाद से ही दोनों के बीच में एक मनमुटाव सा पैदा होते हुए देखा जाने लगा था जो इस तरह से उभरकर के सामने आएगा ये किसी से ने सोचा नही था.