आजम खान को भूमाफिया घोषित किया गया, लगे ये संगीन इल्जाम जो भेज सकते है जेल

348

आजम खान उत्तर प्रदेश के सबसे अधिक विवादित नेताओं में से एक कहे जाते है और कही न कही उनका नाम कई गलत जगहो पर जुड़ता रहता है. अब चाहे वो महिलाओं पर गलत टिपण्णी करना हो, साम्प्रदायिक उन्माद फैलाना हो या फिर जमीन हड़पना हो. अब आजम खान पर ऐसा ही आरोप लगा है जिसमे उन पर एक दो नही बल्कि दर्जन भर केस दर्ज हुए है. इसके बाद में आजम खान काफी भारी मुसीबत में फंसते हुए नजर आ रहे है. उनके राजनीतिक करियर का बंटाधार होना तो तय ही माना जा रहा है मगर अभी जो हुआ है वो उनपर भूमाफिया का काला धब्बा लगा चुका है.

रामपुर प्रशासन ने आजम खान को किया भूमाफिया घोषित
उत्तर प्रदेश की सरकार एक एंटी भूमाफिया पोर्टल चलाती है जिस पर उन लोगो के नाम होते है जो भूमाफिया होते है और इसके पीछे का लक्ष्य पब्लिक को उनसे सतर्क करना रहता है. रामपुर प्रशासन ने हाल ही में आजम खान का नाम भी उसी एंटी भू माफिया पोर्टल पर डाल दिया. इसके बाद ये तो साफ़ हो गया कि राज्य सरकार और रामपुर प्रशासन मानते है आजम खान ने गडबडी की है लेकिन क्या?

26 किसानो की जमीन पर अवैध कब्जे का है आरोप
दर्ज की गयी एफआईआर के मुताबिक़ आजम खान ने अपने जौहर विश्वविद्यालय के निर्माण के लिए 26 किसानो की जमीन अवैध तरीके से जबरन हड़प कर ली है. अब ये 26 किसान अलग अलग उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने जा रहे है. यही नही आजम खान के खिलाफ राजस्व विभाग ने भी शिकायत दर्ज करवाई है कि उन्होंने यूपी के केबिनेट मंत्री रहने के दौरान नदी किनारे की जमीन का अवैध रूप से अधिग्रहण कर लिया जो क़ानून के मुताबिक़ नही है. आजम खान पर दर्जन भर केस दर्ज हो गये है और वो उन पर मुकदमा चलाने और उन्हें जेल तक पहुँचाने के लिए भी काफ़ी है.

इन सबसे परे जयाप्रदा ने तो आजम के चुनाव जीतने को ही कोर्ट में चुनौती दे डाली है जहाँ पर उनकी अपनी दलीले है. ऐसे में आजम खान के सामने एक नही बल्कि दर्जनों मुसीबते खड़ी हो गयी है जिससे निपटना उनके लिए बिलकुल भी आसान नही होने वाला है.