राजनीतिक बदले का शिकार हुए बरेली विधायक? साक्षी मिश्रा लव स्टोरी के पीछे निकला ये मास्टरमाइंड

1686

इन दिनों एक विडियो था जिसने पूरे देश को ही सर पर उठा रखा था. पूरा मामला क्या था? बरेली के विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा ने लव मैरिज की थी अजितेश से और इसके बाद साक्षी और अजितेश की तरफ से एक विडियो वायरल किया गया जिसमे उन्होंने दावा किया कि साक्षी के पिता यानी राजेश मिश्रा और उनके दोस्त राजीव राणा उन्हें परेशान कर रहे है, उनकी जान के पीछे पड़े हुए है. इसके बाद उन्हें पुलिस की सुरक्षा भी मिली लेकिन हाल ही में केस में जो मोड़ आया है उसने सारे केस का रूख ही मोडकर के रख दिया है.

लव स्टोरी के पीछे नजर आये राजनीतिक विरोधी
साक्षी मिश्रा और अजितेश जब भागे थे तब अजितेश के मोबाइल पर एक नम्बर पर 60 से भी ज्यादा कॉल आया था और कॉल करने वाले का नाम गौरव उर्फ़ अरमान सिंह था. कुछ मतभेदों के चलते रिपोर्ट्स बताती है गौरव अब विधायक राजेश मिश्रा के पास नही जाता था और वो भाजपा के दुसरे नेताओं के सम्पर्क में चला गया. अजितेश भी इनके ग्रुप का ही बताया जाता है. फ़िलहाल कुछ भी साफ़ नही है लेकिन पुलिस और भाजपा सारी कड़ियाँ अपनी जांच में जोड़ रही है.

अरमान सिंह उर्फ़ गौरव को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है और इसके बाद उसे अदालत ले जाया गया, हालांकि इसके पीछे पिछले साल मुहर्रम में हुए बवाल में उसका नाम होने का कारण दिया गया है मगर इसमें परेलल में साक्षी मिश्रा केस भी चलाया जा रहा है. गौरव ने सफाई देते हुए कहा विधायक जी को कोई गलतफहमी हो रही है. मैंने तो कई महीनो पहले ही अजितेश से बात करना बंद कर दिया था. अभी हाल ही में उसने मुझे फोन किया था तो मुझे पता लगा वो अजितेश बोल रहा है तब मेने उसे फिर से कॉल किया. जबकि मुझे इस सम्बन्ध में कुछ भी नही पता था. इसमें बीजेपी के ही उन नेताओं के नाम भी शक के घेरे में आ रहे है जिन लोगो ने ये सारी कहानी रची थी. एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार उन्हें ये भी मालूम था कि साक्षी इस वक्त जयपुर में है.

अब अजितेश अपनी मर्जी से साक्षी के करीब गया या फिर इनके द्वारा भेजा गया ये तो पूरी जांच होने के बाद ही पता चल पायेगी लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा है भी तो भी क़ानूनन होगा तो वही जो साक्षी बयान देगी. कोर्ट को भी कपल की मर्जी के अनुसार ही फैसला देना होगा. नैतिकता के आधार पर क्या सही क्या गलत? ये अलग बात है.