नवजोत सिंह सिद्धू ने राहुल गांधी को भेजा इस्तीफा, मुख्यमंत्री अमरिंदर ने दी ये प्रतिक्रिया

301

भारतीय जनता पार्टी से बाहर निकलने के बाद में सिद्धू की राजनीतिक स्थिरता का तो कोई ठिकाना ही नही रह गया है. उन्होंने कांग्रेस में अपने लिए एक जगह बना ली लेकिन पहले से कांग्रेस में मौजूद लोगो को उनकी मौजूदगी बिलकुल ही पसंद नही आ रही थी जिसके चलते पंजाब कांग्रेस में लगातार एक के बाद एक खबरे आ रही थी कि सिद्धू को बाहर की तरफ धकेला जा सकता है और ऐसा ही हुआ. नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस सरकार के मंत्रीपद को छोड़ दिया जिसके बाद असली बवाल शुरू हुआ.

ट्वीट कर किया ऐलान, दे दिया है इस्तीफा
नवजोत सिंह सिद्धू ने हाल ही में अपने ट्विटर अकाउंट से इस बात का ऐलान किया कि वो अब पंजाब सरकार का हिस्सा नही है. पार्टी में अलग ही तरह की कशमकश के चलते उन्हें ये इस्तीफा देना पड़ रहा है. यही नही नवजोत सिंह सिद्धू ने ये इस्तीफा राहुल गांधी को भी भेजा है और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को भी भेजा है. हालांकि पंजाब सरकार के द्वारा इसकी पुष्टि करने की बात पूरा पत्र पढने के बाद ही की गयी.

ये है इस्तीफे की वजह
नवजोत सिंह सिद्धू को लगातार उनकी ही पार्टी में कई सीनियर नेताओं के द्वारा घेरा जाता रहा है जिसमे पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह प्रमुख है. अमरिंदर सिंह ने तो ये तक कह दिया था कि पंजाब में जो कुछ भी थोड़ी बहुत सीट्स कांग्रेस हारी है तो उसके पीछे सिद्धू का बडबोलापन है, बाजवा से दोस्ती है. यही नही उन्होंने नवजोत सिंह को महत्वपूर्ण मंत्रीपद से हटाकर के उन्हें निचले स्तर के पद दे दिए जिनके पास उतनी ताकत नही होती है जिसके चलते सिद्धू के साथ काफी खटपट चल रही थी और इससे सिद्धू अपमानित भी महसूस कर रहे थे जिसके चलते उन्होंने अपना इस्तीफा भेज दिया.

अमरिंदर सिंह ने दी प्रतिक्रिया
अमरिंदर सिंह ने भी इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि मुझे इस सम्बन्ध में पूरी जानकारी नही है मैं उनका लैटर पढने के बाद ही जवाब दूंगा. हालांकि उन्होंने इस पर टिपण्णी जरुर की है. वो कहते है मुझे इस पर कोई भी आपत्ति नही है. फेरबदल के बाद मेंने उन्हें बहुत ही महत्वपूर्ण पोर्टफोलियो दिया था. मैंने कई मंत्रियो के विभाग बदले थे लेकिन दिक्कत सिर्फ सिद्धू को ही हुई.