अब सांसद नुसरत जहाँ ने जय श्री राम के नारों पर दिया बयान, कुछ लोगो को नाराज कर सकता है

443

सांसद नुसरत जहां इन दिनों सबसे ज्यादा चर्चा में रहने वाली राजनीतिक शख्शियत बन चुकी है. फिल्मो से राजनीति में आयी नुसरत अपने अलग पहनावे और सोच को लेकर के अक्सर ही चर्चा में रहती है. मुस्लिम होकर के हिन्दू से शादी, हिन्दू मंदिरों में पूजा करना और तो और संसद में सिन्दूर लगाकर के शपथ ग्रहण करना ये सब सनातनवादियों के दिलो में उनके लिए एक सॉफ्ट जगह पैदा कर रहा था मगर अभी हाल ही में नुसरत ने जो बयान दिया है उसके बाद में कुछ लोगो के लिए ये सामान्य रहेगा लेकिन कुछ इसे दिल पर ले सकते है.

जय श्री राम के मेसेज भेजकर अराजकता फैलाते है ये ये लोग
नुसरत जहां ने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि ईद के दिन मुझे 12 हजार के करीब मैसेज सिर्फ जय श्री राम लिखे हुए मिले. ये लोग किसी भी पार्टी के लोग नही है ये सिर्फ और सिर्फ अराजकता फ़ैलाने का काम करते है. ये सारे मेसेज व्हाट्स एप्प पर आये थे और मेने इन पर कोई भी रिस्पोंस नही किया क्योंकि मुझे पता है ये किसी भी पार्टी के नही है. नुसरत यहाँ लोगो को टारगेट तो कर रही है लेकिन उनके दिल में बीजेपी के लिए अचानक से यहाँ सॉफ्ट कार्नर नजर आता है.

बीजेपी का बचाव क्यों करती है नुसरत?
नुसरत जहां के बयान में जहाँ वो उन लोगो को तो टार्गेट कर रही है जो लोग उन्हें व्हाट्स अप्प पर जय श्री राम लिखकर के भेजते है मगर वही दूसरी तरफ नुसरत ये भी बार बार कहती है कि ये लोग किसी भी पार्टी से नही है ये मुझे मालूम है. जहाँ एक तरफ ममता बनर्जी छोटी छोटी बात को लेकर के भी बीजेपी को टारगेट करने से नही चूकती है वही नुसरत अपनी तरफ से बीजेपी को क्लीन चिट देती नजर आती है ये अपने आप में काफी शॉकिंग है.

इसके पीछे कारण ये भी हो सकता है कि नुसरत जहां के पति निखिल जैन का परिवार बीजेपी के प्रति सॉफ्ट हो या उनका बीजेपी से कोई सम्बन्ध हो या फिर ये भी हो सकता है नुसरत अगला पोलिटिकल गेम भी बीजेपी के साथ मिलकर के खेलना चाह रही हो, अभी कुछ भी कह पाना संभव नही है.