योगी आदित्यनाथ ने मदरसे में पढने वाले बच्चो के लिये बड़ा फैसला किया, हर तरफ हो रही तारीफ़

506

भारतीय जनता पार्टी अब देश में उस दल के रूप में उभर रही है जो मुस्लिमो के लिए सिर्फ वायदे ही नही कर रही है बल्कि उनके लिए काम भी करती है और इस वजह से वो तारीफ़ के काबिल कही जाने लगी है. हाल ही में मोदी सरकार ने मुस्लिमो के लिए स्कोलरशिप की घोषणा की है ताकि मुस्लिम बच्चे एडवांस चीजे पढ़ सके और मदरसे में पढ़ाई जाने वाली पुरानी चीजो से वो मुक्ति पा सके. अब योगी आदित्यनाथ ने भी इस सम्बन्ध में एक पहल की है जिसकी हर तरफ और हर धर्म के लोगो द्वारा तारीफ़ की जा रही है.

अब मदरसा में पढने वाले बच्चो को मुफ्त किताबे देगी यूपी सरकार
योगी आदित्यनाथ की उत्तर प्रदेश सरकार ने ऐलान किया है कि अब यूपी के मदरसों में जितने भी बच्चे पढ़ते है उन सभी को किताबे मुफ्त उपलब्ध करवायी जायेगी. सरकार इसके लिए अलग से बजट का निर्धारण भी करेगी ताकि किताबे अलोट करते समय किसी तरह की समस्या का सामना नही करना पड़े.  योगी आदित्यनाथ के पास में ये प्रस्ताव पिछले एक समय से पड़ा हुआ था जिसे अब अंतिम सहमती के बाद में लागू किया जा रहा है.

क्या है इस फैसले के पीछे का कारण?
यूपी में मदरसों की एक बड़ी संख्या है और हर क्लास में 200 के करीब एवरेज मुस्लिम बच्चे होते है लेकिन मदरसों या फिर पढ़ाने वाले गरीब मुस्लिम माँ बाप के पास पैसे नही होते है कि वो किताबे खरीदकर के सभी को दे सके. ऐसी स्थिति में आम तौर पर कई आधुनिक सब्जेक्ट्स पढने से रह ही जाती है. कई मदरसे तो ऐसे है जहाँ पर सिर्फ धार्मिक किताबे जैसे कुरान ही पढाई जाती है जबकि बच्चो को आधुनिक पढ़ाई करवाना प्राथमिकता होनी चाहिए. ऐसी स्थिति योगी आदित्यनाथ उन्हें विज्ञान, इंग्लिश और सामजिक विज्ञान जैसी किताबे देकर उनके दिमाग को स्कूली बच्चो जैसा बनाने का प्रयास करेगी.

इससे कही न कही एक हद मुश्किलें कम होगी. मदरसों में देश के मुस्लिम बच्चो का एक अच्छा खासा हिस्सा पढता है जिसमे सुविधाओं का इतना अभाव है कि वहां पढ़ना और न पढ़ना बराबर है. अगर वहाँ सरकार का हस्तक्षेप बढ़ता है तो इससे उन्हें सही गाइडेंस मिल सकेगा.