बरेली बीजेपी विधायक की बेटी ने की दलित से शादी, बेटी ने लगाया गुंडे भेजने का आरोप पिता ने दिया जवाब

1995

बरेली में इन दिनों राजनीति बड़ी ही गर्म हो चली है क्योंकि एक परिवार का आपसी मसला मीडिया में फैल चुका है और मामला कुछ नया नही है. वो सब ही चल रहा है जो हिन्दुस्तान में लम्बे समय से चला आ रहा है. बच्चे माँ बाप की मर्जी के खिलाफ शादी करना चाह रहे है और माँ बाप उन्हें इसके लिए इजाजत नही देते और उनकी जान तक लेने को तैयार हो जाते है और ऐसी ही एक फिल्मी कहानी इन दिनों बरेली के विधायक राजेश मिश्रा के घर पर चल रही है और उन्हें इस कहानी का विलेन बना दिया गया है.

बेटी ने की है दलित युवक से शादी
मीडिया रिपोर्ट और वायरल विडियो के अनुसार बरेली के बिठारी से विधयाक राजेश मिश्रा की बेटी बेटी साक्षी मिश्रा को अजितेश नाम के युवक से प्यार हो गया जो कानूनी भाषा के अनुसार दलित समुदाय से आता है. घर वालो के राजी न होने पर साक्षी ने भागकर के युवक के साथ में शादी कर ली. ये उनका दावा है. लडकी के मौजूदा पहनावे, सिन्दूर और कंगन आदि से ये बात कही न कही कन्फर्म भी हो ही जाती है लेकिन असली मुसीबत तो इसी के बाद ही शुरू हुई है.

साक्षी का दावा, पिता और उनके आदमी लेना चाहते है जान
साक्षी ने एक के बाद एक विडियो जारी किये है जिसमे वो अपने पति अजितेश के साथ एक कार में नजर आती है और वहाँ बैठे हुए साक्षी मिश्र ने दावा किया है कि उसके पिता यानी माननीय विधायक को इस बात से दिक्कत है कि उसने एक दलित से शादी कर ली है और इस वजह से वो उन्हें ढूंढ रहे है. उन्होंने उनके पीछे कुछ एक लोग लगा दिये है जिसमे राजीव राणा उन्हें हेड कर रहा है. वो अपने राजनीतिक रसूख का इस्तेमाल करके उन्हें ख़तम कर देना चाहते है.

जवाब में क्या बोले पिता?
साक्षी के पिता यानी राजेश मिश्रा ने मीडिया के सामने आकर के जवाब दिया कि उनका ऐसा कोई भी इरादा नही है वो दोनों ही बालिग़ है और जहाँ शादी करना चाहे कर सकते है. वो ये कहते है कि उन्हें सिर्फ साक्षी की चिंता है क्योंकि वो लडका साक्षी से नौ साल बड़ा है और उसकी आय भी अधिक नही है. वो कहते है कि वो बस शान्ति से घर लौट आये, उन्हें कोई भी नुकसान नही पहुंचाएगा. पार्टी हाईकमान को भी सूचित कर दिया गया है.

लड़के के घर वाले बरेली से भागे, बोले विधायक जी गुस्सा छोडो
साक्षी ने जिस युवक से शादी की है उसके घर वालो ने भी शहर छोड़ दिया है. वो लोग भय के चलते शहर से बाहर रह रहे है और उनका कहना है वो अपने बहू और बेटे को अपनाने को तैयार है बस विधयाक जी अपना गुस्सा छोड़ दे.