मिडल क्लास को पहले मोदी ने दी 5 लाख तक की इनकम टैक्स में छूट, अब एक और बड़ा तोहफा

1321

प्रधानमंत्री मोदी की सरकार का काल चाहे जैसा भी गुजरा हो लेकिन यहाँ पर मिडल क्लास के लिए कई फायदे से जुड़े फैसले लिये गये जिनसे कही न कही लोगो को फायदा हुआ है. हाल ही में अंतरिम बजट जब पेश किया गया तब उसमे मिडल क्लास को एक बहुत ही बड़ा तोहफा दिया गया और उसमें ऐलान किया गया कि अब से भारत में 5 लाख रूपये सालाना कमाने वालो को किसी भी तरह का कोई भी टैक्स नही देना पड़ेगा. ये अपने आप में काफी सही फैसला था और मिडल क्लास ने इसका स्वागत किया लेकिन मोदी जी यहाँ कहाँ रूकने वाले थे? उन्होंने एक और बड़ा ऐलान कर दिया है.

छोटी मोटी टैक्स वसूली के लिए इनकम टैक्स नही ले जा सकेगा कोर्ट
पहले इनकम टैक्स को अधिकार था कि एक छोटी सी रकम का टैक्स न चुकाने पर भी वो आपको कोर्ट में ले जा सकते थे लेकिन अब ऐसा नही होगा. अगर इनकम टैक्स की रकम 10 हजार रूपये से कम की है जो चुकाई नही गयी है किसी वजह से तो उसके सम्बन्ध में ऑफिस की कार्यवाही ही संभव होगी. इसमें वो आपको कोर्ट नही ले जा सकेंगे. इससे कम कमाई करने वाले लोगो को काफी फायदा होगा.

गलती से छूट जाने वाली टैक्स की रकम वालो को होगा फायदा
कई बार सीए या खुदके द्वारा भरे गये आईटीआर में लोगो द्वारा छोटी मोटी गड़बड़ियां रह जाती थी और ऐसी स्थिति में अगर इनकम टैक्स उन्हें पकड लेता तो नोटिस से लेकर कोर्ट तक में घसीट लेता था मगर अब ऐसा नही होगा. अब ऐसी कठिन कार्यवाही से नही गुजरना होगा और इससे मिडल क्लास लोगो को बड़ी राहत मिलने वाली है. इस तरह से कई सारे फैसले लिए जा रहे है जो लोगो की जिन्दगी को आसान बनाने का काम करेंगे.

जहाँ एक तरफ कम कमाई करने वालो पर मोदी सरकार मेहरबान है वही करोडो में कमाने वालो पर टैक्स बढ़ा दिए गये है जिसके चलते उनकी जेब पर बोझ बढ़ा है. इसके पीछे सरकार का उद्देश्य अमीरों और कम कमाने वालो के बीच की खाई को कुछ हद तक भरने का प्रयास करना है.