जो अपनी पर जातिसूचक शब्द लिखवाकर घूम रहे थे, देखिये योगी पुलिस ने उनके साथ क्या किया?

749

योगी आदित्यनाथ के आने के बाद से ही क़ानून व्यवस्था को बेहतर करने का काम शुरू कर दिया गया है. ख़ास तौर पर परिवहन से जुड़े काम सबसे पहले देखे जा रहे है ताकि लोगो को सड़क पर निकलने से परेशानी न हो और इसके लिया ख़ास तौर पर यूपी के सबसे बड़े शहर नॉएडा में पुलिस के द्वारा कई ऑपरेशन चलाए जा रहे है ताकि असामाजिक लोगो का दिमाग ठिकाने लगाया जा सके. और इसी सीरीज में उन सभी लोगो के खिलाफ भी कार्यवाही की गयी जो अपनी गाडी पर जातिसूचक शब्द लिखवाकर के घूम रहे थे.

ऑपरेशन क्लीन 7 में हुए 1457 चालान
देश में अपनी जाति या कुछ भी अनाप शनाप टिप्पणियां गाड़ी पर लिखवाकर के घूमने का चलन सा बन गया है लेकिन लोगो को ये मालूम नही है कि ये सब कुछ क़ानून के बिलकुल खिलाफ है और पुलिस ने इसके खिलाफ कार्यवाही भी की. नॉएडा शहर में कुछ घंटो तक लगातार पुलिस के द्वारा ऑपरेशन क्लीन 7 चलाया गया जिसके तहत कुल 1457 ऐसे वाहनों के चालान किये गये जिनपर या तो कोई भद्दी टिप्पणियाँ लिखी हुई थी, जिनपर जातिसूचक शब्द लिखे थे या जिनकी कारों के कांच पर काली रंग की फिल्म चढ़ी हुई थी जिससे कोई भी अन्दर न झाँक सके.

नॉएडा पुलिस के द्वारा इन सभी के खिलाफ बिना किसी की सिफारिश को सुने कार्यवाही की क्योंकि उन्हें भी राजनीतिक समर्थन हासिल है. योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को कानूनी व्यवथा को चुस्त दुरस्त करने के सख्त निर्देश दे रखे है और जो भी या तो कामचोरी कर रहे है या जिनके खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले है उन्हें जबरन रिटायर किया जा रहा है. कई ऐसे अधिकारी भी है जिन्हें सस्पेंड किया गया है. ऐसी स्थिति में अच्छे पुलिस अधिकारियों और कर्मियों को काम करने का मौका मिल गया है जिसके चलते कम से कम नॉएडा शहर धीरे धीरे सुरक्षित बनता चला जा रहा है.

ऑपरेशन क्लीन 7 से पहले नॉएडा पुलिस ने ऑपरेशन क्लीन 6 भी चलाया था जिसमे उन्होंने एक साथ 474 ऐसे लोगो को गिरफ्तार किया था जो लोग पीकर के गाडी चला रहे थे या फिर सार्वजनिक स्थलों पर बैठकर के पी रहे थे. इनके चलते ही लोगो का भरोसा पुलिस में बढ़ा है और आम लोग अपने जीवन में सुरक्षित महसूस करने लगे है.