अलग ही लुक में मंच पर पहुँच गये तेज प्रताप यादव, महिलाओं को लेकर दिया हैरान करने वाला बयान

167

अभी हाल ही में हुए लोकसभा चुनावो के बाद में राजद उन पार्टियों में शुमार हो गयी है जो अपने अस्तित्व के लिए लड़ रही है और इस बात से इनकार नही किया जा सकता है. चुनाव ख़त्म होने के बाद में पहले पार्टी की कमान सम्भाल रहे तेजस्वी तो बिल्कुल गायब ही दिखे और जब दुसरे भाई तेज प्रताप यादव दिखे तो उन्होंने भी पार्टी में ऐसी लहर उड़ेल दी है जिसे लेकर के हर तरफ काफी ज्यादा चर्चा हो रही है. हाँ ये भी कहना ही है कि चर्चा ज्यादातर नकारात्मक ही है.

पार्टी स्थापना दिवस में शामिल होने पहुंचे थे तेजप्रताप
हाल ही में राजद का स्थापना दिवस मनाया गया. चूंकि पार्टी के सुप्रीमो कहे जाने वाले लालू प्रसाद यादव तो जेल में है और तेजस्वी अलग ही रंग ढंग में डूब चुके है तो ऐसे में तेज प्रताप यादव कई जगहों पर कमान संभाल रहे है और उन्होंने स्थापना दिवस के कार्यक्रम में भी शिरकत की जहाँ वो पूरे भगत देशी अंदाज में नजर आये. तेज प्रताप ने माथे पर सफ़ेद तीन धारियां और लाल टीका बनवा रखा था. सफ़ेद कुरता बाल इतने लम्बे लम्बे बढवाए है जिसे देख उन्हें पहली नजर में तो कोई भी राजनेता मानने को तैयार ही न हो.

महिलाओ को लेकर की अजीब टिपण्णी
तेज प्रताप ने अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया लेकिन संबोधन के दौरान वो कई अटपटी बाते भी कह गये. मंच से ही वो एक राजद के कार्यकर्ता को टोकते हुए बोले पड़े ‘ अगर आप ऐसे ही बीच में खड़े रहेंगे तो महिलाए हमें कैसे देखेंगी? वो हमें देखना चाह रही है. हम महिलाओं को आगे ले जाना चाहते है. अगर आप बीचमें आयेंगे तो महिलाये आगे कैसे आएगी? हम भी अपने पिताजी की तरह महिलाओं को आगे की पंक्ति में लाना चाहते है. जिस तरह से उनकी सभा में कोई बेरिकेडिंग नही होता था वैसे ही हम भी नही रखेंगे.’

कुल मिलाकर के तेज प्रताप का अधिकतर  भाषण महिलाओं पर ही केन्द्रित नजर आया और आगे पीछे बिठाने जैसी अटपटी बातो में ही वो उलझे हुए नजर आये. ऐसे में सवाल ये उठता है कि ऐसे नेतृत्व में क्या राजद का फिर से बिहार की राजनीति में फिर से उठ पाना संभव होगा? खैर आने वाले वक्त में सब साफ़ हो ही जाएगा.