बड़ी खबर: केजरीवाल सरकार पर लगा 2 हजार करोड़ शिक्षा घोटाले का आरोप

60

दिल्ली सरकार का ज्यादातर फोकस शिक्षा पर रहा है और कही न कही केजरीवाल और मनीष सिसोदिया दोनों ही इस बात का दावा भी करते है कि उन्होंने दिल्ली में शिक्षा की व्यवस्था को बेहतर करके दिखाया है मगर लगता है यही बेहतरी अब उनके लिए परेशानी का सबब बनने वाली है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी की तरफ से दावा किया गया है कि केजरीवाल सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में पूरे 2 हजार करोड़ रूपये का घोटाला किया है. दिल्ली जैसे छोटे से राज्य में इतनी बड़ी राशि के घोटाले का इल्जाम लगाना कोई भी छोटी बात तो बिलकुल भी नही है.

मनोज तिवारी ने प्रेस वार्ता कर लगाया इल्जाम
दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने केजरीवाल और मनीष सिसोदिया पर स्कूल के कमरों के निर्माण में बड़े घोटाले का आरोप लगाया है. मनोज तिवारी बोले ‘ हम शिक्षा व्यवस्था में बड़े घोटाले का पर्दाफ़ाश करने वाले है जिसमे केजरीवाल और सिसोदिया भी शामिल है. जिन कमरों का निर्माण सिर्फ 892 करोड़ रूपये में ही हो सकता था उसके लिए आम आदमी पार्टी की सरकार ने 2892 करोड़ रूपये दिए है. मनीष सिसोदिया ने कांट्रेक्टर का काम अपने रिश्तेदारों को देकर अपना फायदा करवाना चाह रहे है.’

मनीष सिसोदिया ने तुरंत सामने आकर दिया जवाब
दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जवाब देते हुए कहा ‘ अगर मैंने और मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कोई घोटाला किया है तो मुझे तुरंत गिरफ्तार करे. मुझे गिरफ्तार करवाए या फिर माफ़ी मांगे. सारी जांच एजेंसियां बीजेपी के पास में है वो चाहे जैसी जांच करवा ले लेकिन कोई भी घोटाला नही निकलेगा. मनोज तिवारी चाहे तो बीजेपी के किसी भी राज्य के नेता से पूछ ले या जाकर देख ले, हमारे स्कूल किसी अन्य राज्य से कई ज्यादा अच्छे है. अगर उन्हें मिल जाए हमसे बेहतर तो मैं खुद देखने चलूँगा.’

जिस तरह से बीजेपी और आम आदमी पार्टी के बीच में ज़ुबानी जंग शुरू हो गयी है वो थमने का तो बिलकुल भी नाम नही ले रही है और ऐसे में मनोज तिवारी इस पूरे आरोप का आधार एक आरटीआई रिपोर्ट को बता रहे है जिसके मुताबिक़ दिल्ली सरकार ने कमरों के निर्माण लागत से कई गुना पैसे उन पर खर्च कर दिये है.