नगर निगम वालो पर बल्ला चलाने के बाद बेटे आकाश की गिरफ्तारी पर भडके कैलाश विजयवर्गीय

223

इन दिनों मध्यप्रदेश के सबसे बड़े और दिग्गज राजनीतिक परिवारों में शुमार विजयवर्गीय परिवार काफी मुश्किलों में है क्योंकि कुछ ही समय पहले आकाश विजयवर्गीय ने एक निगम अधिकारी पर बल्ला चला दिया और फिर इसके बाद में उनके खिलाफ केस दर्ज करवाया गया तो पुलिस ने कार्यवाही भी की और आकाश को गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तारी के बाद में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही आमने सामने है लेकिन एक बेटे के लिए पिता कैलाश विजयवर्गीय का दर्द तब सामने आया जब मीडिया उनसे बार बार सवाल पूछे जा रहा था.

क्या था पूरा मामला?
26 तारीख को सुबह सुबह इंदौर के एक इलाके में नगर निगम के अधिकारी पहुँच गये और उनको एक मकान को गिराना था. मकान को गिराने  के लिए पहुंचे निगम अधिकारियो के सामने कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश भिड गये जो वही से विधायक है. नौबत यहाँ तक आ गयी कि उन्होंने निगम के अधिकारियों को बल्ले से दौड़ा दौड़ा कर पीटा.

सरकार के आदेश पर हुए गिरफ्तार
इस घटना के बाद में आकाश के खिलाफ एफआईआर हुई और सूत्र बताते है कि जीतू पटवारी के दखल के बाद में पुलिस ने काफी तेजी के साथ में आकाश विजयवर्गीय को ढूँढा और गिरफ्तार कर लिया गया. उनकी जमानत की अर्जी भी खारीच हो गयी है और अब आकाश विजयवर्गीय पूरे चौदह दिन के लिए न्यायिक हिरासत में रखे हुए है. ऐसे में इतने बड़े परिवार के होते हुए भी उन्हें जेल से बाहर ला पाना संभव नही है.

फूटा पिता का गुस्सा
आकाश विजय वर्गीय के पिता कैलाश विजयवर्गीय इस मसले को लेकर के बड़े ही गुस्से में है. हाल ही में एक पत्रकार उनसे बार बार यही सवाल पूछ रहा था कि आपके बेटे ने ऐसा क्यों किया? तो कैलाश विजयवर्गीय ने जवाब देते हुए कहा आप जज हो क्या? पत्रकार ने इसके बाद उन्हें और उकसाते हुए पूछा लेकिन वो विडियो में तो ऐसा करते हुए दिख रहा है, इस पर भड़कते हुए कैलाश विजयवर्गीय ने ये तक कह दिया तुम्हारी हैसियत क्या है?

अब बीजेपी के लिए ये गले की फांस जरुर बन गयी है और कांग्रेस पार्टी को आकाश की हरकत से बैठे बिठाए मुद्दा मिल गया है जिसे वो किसी भी हाल में खोना नही चाहेंगे. बाकी तो अब 14 दिन बाद ही कुछ हो सकता है.