बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने लगाये जवाहलाल नेहरु पर गंभीर आरोप

205

आज श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि है. वही श्यामा प्रसाद मुखर्जी जिन्होंने आजाद भारत का सबसे पहला वित्त मंत्रालय संभाला और जो नेहरु की नीतियों के सबसे बड़े और घनघोर विरोधी रहे. उनके सिद्धांतो पर भी बीजेपी चली और सफलता हासिल की लेकिन श्यामा प्रसाद मुखर्जी का देहांत बड़ी ही रहस्यमयी स्थिति में हुआ था. श्यामा प्रसाद मुखर्जी मुखर्जी ने कश्मीर की तरफ एक राष्ट्र एक ध्वज के इरादे से कूच किया लेकिन उन्हें नजरबंद कर लिया गया और फिर एक महीने में रहस्यमयी तरीके से उनकी जान चली गयी और इसी पर पंडित नेहरु सवालों के घेरे में है.

श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि के अवसर पर बीजेपी कार्यालय में उन्हें श्रद्धांजली अर्पित की गयी. उन्हें याद किया गया, छोटा सा कार्यक्रम भी आयोजित हुआ जिसमे बीजेपी के वर्तमान कार्यकारी अध्यक्ष जेपी चड्डा ने कुछ बाते भी कही. उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के समबन्ध में जवाहरलाल नेहरु पर गंभीर आरोप लगाये है.

जेपी  नड्डा ने कहा ‘ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के निधन की जांच होनी चाहिए. देश की जनता मांग कर रही थी लेकिन पंडित नेहरु ने ऐसा नही किया. इसे भूला नही जा सकता है और न ही श्यामा प्रसाद मुखर्जी का बलिदान कभी भुलाया जा सकता है.’ जेपी नड्डा ने साफ़ साफ़ तौर पर पंडित नेहरु पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के साथ में जो भी अन्दर ही अन्दर अच्छा बुरा घटित हुआ उसको छुपाने के और उस पर जांच न करने देने के आरोप लगाये. ये कही न कही प्रधानमंत्री के पद का दुरूपयोग करने जैसा है जो अपने आप में बेहद ही बुरा है. अगर आरोपों के अनुसार भारत के पहले प्रधानमंत्री ने ऐसा किया है तो ये बेहद ही विचलित करने वाला है.

बीजेपी के अलावा तृणमूल ने भी श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि मनाने का फैसला किया है. इस पर बीजेपी ने पलटवार कते हुए कहा कि शायद अब तृणमूल को समझ आ गया होगा कि जीत के लिए क्या जरूरी है?