तीन तलाक क़ानून पर आजम ने कहा ‘सिर्फ कुरान का कहा मानेंगे’ सुब्रमण्यम स्वामी ने दिया जवाब

720

सदन का पहला स्तर शुरू हो चुका है और कार्यवाही के साथ ही साथ सरकार की तरफ से पहला बिल भी लोकसभा में पेश कर दिया गया. पहला बिल तीन तलाक के खिलाफ लाया गया जिसके पक्ष में बीजेपी तो विपक्ष में बाकी कई दल थे. इस बिल का कई सांसदों ने जमकर के विरोध किया और अपनी अपनी प्रतिक्रिया भी रखी लेकिन इन सबके बीच में आजम खान ने जो कहा वो अपने आप में बड़ा ही विवादास्पद था और इस पर स्वामी जी ने अपनी कड़ी प्रतिक्रिया भी दी है.

आजम बोले सिर्फ कुरान का कहा मानेंगे
आजम खान से जब तीन तलाक बिल पर प्रतिक्रिया मांगी गयी तो उन्होंने कहा ‘ जो इस्लाम को मानेगा वो कुरान को मानेगा. हम कुरान को मानेंगे. औरत को सबसे पहले हक़ किसने दिया? 1500 साल पहले इस्लाम ने ही औरत को हक़ दिया.’ इस बयान से आजम खान ने ये तो साफ़ कर ही दिया कि वो क़ानून को दरकिनार करके सिर्फ पुरानी बातो पर चलना चाह रहे है.

सुब्रमण्यम स्वामी ने दिया जवाब
सुब्रमण्यम स्वामी ने इस पूरी मुद्दे पर जवाब दिया और कहा ‘ महिलाए इस आतंक में रहती है कि कब उसके पति से उसकी लड़ाई होगी और कब उसका पति उसे घर से निकाल देगा? वैसे चार बीवी रखना भी गलत ही है. महिलाओं को तलाक देना, ट्रिपल तलाक देना, एसएमएस भेजना ये भी एक तरह का आतंकवाद है. निकाह हलाला का भी वही होगा, उसका भी इंतजाम करेंगे’ एक निजी चैनल को जवाब देते हुए स्वामी जी ने ये तक कह दिया ‘ आजम खान ट्रिपल तलाक देकर देखे, उनको भी जेल भेज देंगे.’

जिस तरह से तीन तलाक पर बहस हो रही है उसके बाद में देश दो धड़ो में बँट चुका है. एक तरफ कांग्रेस और औवेसी समेत कई नेता है जबकि दूसरी तरफ बीजेपी और शिवसेना जैसी पार्टियां है. ऐसे में मुस्लिम महिलाए अपने लिए इन्साफ की उम्मीद लगाये बैठी है.