संसद में औवेशी के शपथ ग्रहण में बाकी सांसदों ने लगाये जय श्री राम के नारे, बदले में औवेशी बोले..

1255

इस सरकार का पहला सत्र शुरू हो गया है और सदन में पहला सत्र शुरू होने पर प्रथा के अनुसार हर बार की तरह सभी सांसदों ने खड़े होकर के शपथ ली. शपथ लें के दौरान सभी ने अपनी अपनी भाषा का और नारों का प्रयोग किया. इसी बीच जब हैदराबाद के सांसद असुसुद्दीन औवेशी का नम्बर शपथ लेने के लिए आया तो सबसे ज्यादा बवाल कटा. अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले औवेशी का नाम जैसे ही शपथ लेने के लिये  बुलाया गया तो वो सीट से खड़े होकर आगे की तरफ जाने लगे.

इसी बीच वहाँ पर मौजूद दसो सांसदों ने वन्दे मातरम और जय श्री राम के नारे लगाये. आपको बता दे औवेशी पहले भी इस तरह के नारों से अपनी चिडचिडाहट जता चुके है जिसके बाद अन्य सांसदों ने उनके साथ संसद में भी वही किया. हालांकि औवेशी मुस्कुराते रहे और जाकर अपनी जबां में उन्होंने शपथ ली. इसके बाद औवेशी ने अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए जय भीम, जय मीम और अलाहू अकबर के नारे संसद में खड़े होकर के लगाये.

ये थोडा सा भयावह जरुर था लेकिन कुछ सेकेण्ड के बाद सदन शांत हो गया और औवेशी फिर से अपनी सीट पर जाकर के बैठ गये. इसी बीच सदन में सभी सांसदों ने शपथ ली और औवेशी के अलावा सदन में साध्वी प्रज्ञा के शपथ पर भी अच्छा खासा बवाल हुआ था जब उन्होंने बड़ा ही लंबा चौड़ा नाम बोला.

उन्होंने संस्कृत में शपथ लेते हुए भारत माता की जय के भी नारे लगाये जिसके बाद कांग्रेस ने विरोध किया तो स्पीकर ने उन्हें रिकॉर्ड के अनुसार और फॉर्मेट में ही शपथ लेने के लिए कहा. हालांकि जब तक ये सब हुआ तब तक सदन में काफी ज्यादा बवाल कट चुका था. ऐसा पहले भी होता रहा है हालाँकि औवेशी की शपथ में इस तरह से खलल पहली बार देखने को मिला है.