ममता बनर्जी को कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा झटका, नही मिल रहा ममता को बच निकलने का रास्ता

268

ममता बनर्जी की मुसीबते कम होने का नाम ही नही ले रही है. जबसे उन्होंने सत्ता जाने के डर से तानाशाही भरा रूख अख्तियार किया है तब से ही न सिर्फ जनता उनके खिलाफ हो रही है बल्कि साथ ही साथ उनके अपने भी उनका साथ छोड़कर के जा रहे है और ममता दिन ब दिन अकेली पड़ती चली जा रही है. पहले भी तृणमूल में नम्बर दो के नेता मुकुल रॉय समेत कई तृणमूल के नेता और विधायक बीजेपी में शामिल हो रहे है लेकिन अब तक ये सिलसिला थम जाना चाहिए था जो थमने का नाम ले नही रहा है.

एक बार फिर से तृणमूल के एक संसद और 12 पार्षदों ने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर ली है. तृणमूल विधायक सुनील सिंह और उनके साथ 12 पार्षदों ने बीजेपी को ज्वाइन कर लिया और तृणमूल का त्याग कर दिया. कैलाश विजयवर्गीय के प्रयासों से ये सब सफल हो पाया है और उन्होंने ही सुनील सिंह और उनके साथियो का बीजेपी में स्वागत भी किया.

सुनील सिंह ने बीजेपी ज्वाइन करके कहा ‘ बंगाल की जनता अब मोदी जी के नेतृत्व में सबका साथ सबका विकास चाहती है, अब हम बंगाल में यही सरकार बनाना चाहते है ताकि पश्चिम बंगाल का विकास किया जा सके.’ जब विधायको ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की तो वहाँ पर कैलाश विजयवर्गीय के अलावा मुकुल रॉय समेत कई बड़े बड़े भाजपा नेता मौजूद थे और उन्होंने एक बार फिर से ममता बनर्जी की सरकार के खिलाफ हुंकार भरते हुए उनके सत्ता के संकट में आने के संकेत दे दिए.

आपको बता दे जबसे बीजेपी ने लोकसभा चुनावों में बंगाल में 18 सीटे हासिल की है उसके बाद से ममता बनर्जी काफी हताश है और बीजेपी काफी जोश में है. मगर अब जिस तरह से ममता बनर्जी को एक और झटका अपना एक विधायक छिटकने से लगा है वो काफी गहरा घाव है.