कश्मीर में शहीद हुए मेजर केतन शर्मा को राजनाथ सिंह ने दी सलामी, माँ ने बिलखते हुए पूछा ये सवाल

368

जम्मू कश्मीर की समस्या न जाने कितनी ही जाने लील गयी और इन सबके बीच एक बुरी खबर और आयी. जम्मू कश्मीर के अनंतराग में आतंकियों से लोहा लेते हुए मेजर केतन शर्मा शहीद हो गये. उनकी टीम ने कई आतंकियों को एक साथ ढेर किया था लेकिन यूँ आतंकियों से उलझते उलझते वो खुदको न बचा सके और उन्हें अपनी जान गंवानी पड़ी. मेजर केतन के शहीद होने के बाद उनका पार्थिव शरीर मेरठ में लाया गया जहाँ पर उन्हें अंतिम सलामी दी गयी. वहाँ पर हजारो लोग, कई बड़े बड़े सैन्य अफसर और खुद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी उन्हें सलामी देने के लिए पहुंचे थे.

उनकी माँ और बीवी दोनों का ही रो रोकर के बुरा हाल था. बेटी जो महज 3 साल की है वो तो ढंग से समझ भी नही पा रही होगी कि उसने अपने पिता को हमेशा हमेशा के लिए खो दिया है. सम्मान के साथ में उन्हें तिरंगे में लापता गया और इसके बाद अंतिम यात्रा में एक बहुत ही बड़ा समूह नजर आया और सम्मान के साथ में उनका अंतिम संस्कार किया गया.

जब केतन शर्मा की माँ को फ़ौजी अफसर इस बात के बारे में बताने और ढाढस देने पहुंचे कि उनका बेटा अब इस दुनिया में नही रहा. माँ उनसे सवाल पूछने लगी मेरा ‘शेर कहा है? मेरा शेर कब आएगा?’ माँ के इन सवालों का उनके पास में कोई भी जवाब नही था वो बस चुप ही रहे बस परिवार को दिलासा देने के अलावा उनके पास देने को और कुछ भी नही था.

मेजर केतन सिंह की उम्र महज 29 साल थी. अब से ठीक 6 साल पहले ही उनकी शादी हुई थी और उनकी 3 साल की बड़ी ही प्यारी सी बच्ची भी है. अपनी प्राइवेट नौकरी छोडकर के उन्होंने जज्बे से इंडियन आर्मी को ज्वाइन किया था और वहाँ पर वो जज्बे के साथ में वहाँ पर देश की सेवा करने में डटे रहे/