पाकिस्तान अपनी बात से पलटा, सपना टूटने से नाराज हुआ चीन

518

पाकिस्तान अक्सर ही ये दावे करता है कि उसका और चीन का अपना अलग ही किस्म का याराना है लेकिन जब जेब में पैसा न हो तो भला कोई पूछता भी है? रिश्ते तब नही निभते और पकिस्तान के साथ इन दिनों में कुछ ऐसा ही हो रहा है. अगर आपको मालूम न हो तो बता दे चीन और पाकिस्तान मिलकर के एक चीन पाकिस्तान इकनोमिक कोरिडोर बना रहे है जिसे लेकर के दुनिया भर में चर्चा है.

चीन कई देशो के साथ इस तरह का कोरिडोर बना रहा है और पाकिस्तान के साथ इस कोरिडोर पर काम शुरू भी हो चुका था लेकिन अभी इस वित्तीय सत्र में पाकिस्तान ने फैसला लिया है कि वो इस साल के लिए इस काम को रोक देंगे. यही नही उन्होंने इस कोरिडोर वाले काम को अपनी प्राथमिकता से हटाते हुए इसके बजट में भी लगभग 44 प्रतिशत तक की कटौती कर दी है.

अगर इस तरह से बीच में काम रोका गया और बजट भी काट दिया गया तो इस स्थिति में ये कोरिडोर बन ही नही पायेगा. जब चीन ने पाक से इस प्रोजेक्ट पर चर्चा की थी तब उन्होंने खूब उत्साह दिखाया और चीन ने तो अपने हिस्से का काम करना भी शुरू कर दिया लेकिन जैसे ही गेंद पाकिस्तान के खेमे में आयी तो उन्होने बजट कम करने और काम रोकने जैसी मनमानियां शुरू कर दी.

अब इससे प्रोजेक्ट का काम तो अटक ही रहा है साथ ही साथ चीन का जो मास्टर प्लान जल्दी से जल्दी एशिया में महाशक्ति बनने का था वो भी अटक गया है जिससे जाहिर तौर पर चीन को गुस्सा आना लाजमी भी है. हालांकि ये पाकिस्तान की फिदरत में रहा है कि वो बात कहकर के उससे बड़ी ही आसानी से मुकर जाता है. फ़िलहाल पाकिस्तान काफी तंगी से गुजर रहा है और ऐसे में इस तरह के कामो के लिए पैसा  उपलब्ध नही हो पा रहा है जिसके चलते पाकिस्तान की सरकार घरेलू मुद्दों पर ज्यादा पैसा खर्च कर रही है और इसके लिए पैसा जुटाना ही बड़ी परेशानी है . पाकिस्तान में जनता पर भी काफी भारी भरकम टैक्स लाद दिए गये है.