21 हजार से कम कमाने वालो को मोदी सरकार का बड़ा तोहफा

2336

मोदी सरकार पार्ट 2 आ चुका है और लोगो की जिन्दगी को बेहतर बनाने के लिए फैसले एक के बाद एक लिए जा रहे है. ऐसे में एक मिडल क्लास की उम्मीदे सरकार से काफी ज्यादा है जिसके लिए सरकार ने फैसला लिया भी है ताकि जो लोग कम पैसा कमा रहे है उनकी आमदनी कुछ बढ़ सके और उनकी जेब में ज्यादा पैसा जा सके और इसके लिए 21साल बाद मोदी सरकार ने तनख्वाह में से कटने वाले पैसो को लेकर अभूतपूर्व बदलाव किया है.

एक सरकारी विभाग है जिसका नाम है कर्मचारी राज्य बीमा निगम जो प्राइवेट कर्मचारियो को स्वास्थ्य सेवा प्रदान करता है और इसके बदले में सैलरी में से कुल 6 फीसदी पैसा ईएसआई के नाम पर काटा जाता है. इसे कमर्चारी और कम्पनी दोनों मिलकर के चुकाते है और बचा हुआ पैसा कर्मचारी के पास सैलरी इन हैण्ड के रूप में आता है मगर अब इसे घटा दिया गया है.

अब प्राइवेट कर्मचारियों की तनख्वाह से 6 फीसदी की बजाय 4 फीसदी पैसा ही काटा जाएगा. इससे लगभग साढ़े 3 करोड़ प्राइवेट कर्मचारियों को फायदा होने का अनुमान है जिनकी इनकम 21 हजार रूपये से कम है क्योंकि अब उनकी तनख्वाह में से ईएसआई का पैसा कम कटेगा और इससे उनके हाथ में आने वाली तनख्वाह की राशि अपने आप बढ़ जायेगी. आपको बता ईएसआई का पैसा कटने के बाद में कमर्चारी किसी भी सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल में इलाज करवा सकता है और उसके परिवार के लोग भी अधिकतम 9 हजार रूपये तक का इलाज ले सकते है. ये सुविधा उसे बीमा के रूप में तनख्वाह से कटे पैसे से मिलती है.

अब सरकार ने बीमा की राशि कम कर दी है जिससे कुछ रूपया मासिक सैलरी में बढ़ जाएगा और साथ ही साथ बीमा की सुविधाये वैसी की वैसी ही मिलती रहेगी जो लोगो को उनका जीवन स्तर सुधारने में भी काफी ज्यादा मदद करने वाली है. सरकार का मानना है इससे कम्पनियों और कर्मचारियों पर पड़ने वाला आर्थिक बोझ कुछ हद तक कम हो सकेगा.