धारा 370 पर लेकर जेडीयू ने जो कहा है वो जानकर आपको गुस्सा जरुर आएगा

462

धारा 370 की बात जब भी आती है तो कही न कही हर भारतीय नागरिक यही चाहता है कि जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी इसे हटाया जा सके और इस मुद्दे को लकर तमाम राष्ट्रवादी लोगो के बीच में एक ही पार्टी जिस पर वो भरोसा कर पाते है और वो है बीजेपी क्योंकि भारतीय जनता पार्टी ही अकेली पार्टी है जिसके घोषणा पत्र में इसे शामिल किया गया है. बीजेपी द्वारा इसे शामिल किये जाने के बाद में ये मुद्दा राष्ट्रीय स्तर का बना कि कश्मीर से इसे हटा देना चाहिए.

ऐसे में बीजेपी के सभी सहयोगी दलों यानि एनडीए के सारे घटक दलों से यही उम्मीद की जाती है कि वो भी इसका समर्थन करेंगे लेकिन  जदयू ने सबकी उम्मीदों पर एक बार फिर से पानी फेर दिया है. हाल ही में जदयू की कार्यकारिणी की बैठक हुई थी तब पार्टी के महासचिव ने कहा ‘ अनुच्छेद 370 के मामले में पार्टी कोई भी समझौता नही कर सकती है. जब कांग्रेस ने इसे हटाने की कोशिश की थी तब भी जयप्रकाश नारायण ने इसका विरोध किया था. हम उन्ही जेपी के वंशज है और हमेशा इसके विरोध में रहेंगे.

हमारी जिम्मेदारी है कि हम अपने पूर्वजो द्वारा उठाये गये मुद्दों को आगे जिम्मेदारी के साथ में ले जाए.’ जदयू की ये बाते साफ़ कर देती है कि अगर बीजेपी किसी भी सूरत में संसद में अनुच्छेद 370 को खत्म करने के लिए प्रस्ताव लाती है तो फिर उस स्थिति में जदयू इसका विरोध करेगी.

ये अपने आप में बीजेपी के लिए भी झटका है क्योंकि जदयू बिहार में तो बीजेपी के साथ नजर आती है लेकिन जब भी राष्ट्रीय मुद्दों की बात आती है तो फिर ऐसी स्थिति में जेडीयू के साथ में ऐसा नही है. ये कही न कही बीजेपी के साथ में परेशानी का सबब जरुर होने वाली है. खैर जो भी है जदयू पहले ही अपना मत साफ़ कर चुकी है तो ऐसी स्थिति में बीजेपी को और ज्यादा जोर लगाने की जरूरत पड़ेगी.