केजरीवाल ने आयुष्मान भारत योजना को दिल्ली में लागू करने से किया मना, दिया बड़ा बयान

124

केंद्र और राज्य के बीच में अक्सर ही नोंक झोंक होती रहती है लेकिन इन दिनों दिल्ली और केंद्र सरकार के बीच में कुछ ज्यादा ही है. अगर आपको जानकारी हो तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष्मान भारत नाम से स्वास्थ्य योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत गरीबो को मुफ्त में इलाज मिलता है. केंद्र की इस योजना को कई राज्यों ने लागू कर दिया है लेकिन अरविन्द केजरीवाल इस मामले को लेकर के अलग ही राग अलाप रहे है.

जब अरविन्द केजरीवाल से स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने आयुष्मान भारत योजना लागू करने के लिए कहा तो उन्होंने मना ही कर दिया. अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि उनकी दिल्ली को इस योजना की जरूरत ही नही है. राज्य सरकार पहले से ही दिल्ली वालो के स्वास्थ्य के लिए योजना चला रही है और वो योजना केंद्र सरकार की योजना से दस गुना ज्यादा बेहतर है. ऐसे में हम इस योजना को रोककर के केंद्र की योजना को लागू नही करेंगे.

अब लोग इस पर ये कह रहे है कि केजरीवाल अपने नाम से योजना चलाते रहना चाह रहे है ताकि दिल्ली के चुनाव में वो उस योजना को आधार बना सके. अगर आयुष्मान भारत को दिल्ली में आने दे दिया जाता है तो फिर ऐसे में सारा क्रेडिट तो मोदी को चला जाएगा और ये केजरीवाल भला कैसे बर्दास्त कर सकते है? ये अपने आप में काफी ज्यादा सोचने वाला है और ऐसे में कही न कही लोग भी सोच में फंस गये है कि आखिर ये सब हो क्या रहा है?

हालाँकि ऐसा नही है कि दोनों योजनाये लागू नही हो सकती है लेकिन ये अब राज्य सरकार की मर्जी पर निर्भर करता है. ऐसी स्थिति में जनता को ही अच्छा हो या बुरा दोनों भुगतने पड़ते है और इसका सबसे बेहतरीन उदाहरण तो पश्चिम बंगाल है ही.