फिर देश के खिलाफ बोली महबूबा मुफ़्ती, गौतम गंभीर ने दिया ऐसा जवाब कि चुप हो गयी

730

महबूबा मुफ़्ती के जेहन में इन दिनों सबसे ज्यादा घबराहट है और उसके पीछे की वजह है अमित शाह द्वारा लिया गया जम्मू कश्मीर में परिसीमन का फैसला. दरअसल जम्मू कश्मीर में एक बार फिर से परिसीमन किया जाएगा. परिसीमन की प्रक्रिया के द्वारा जम्मू में विधानसभा सीटो की संख्या बढ़ाई जाएगी. इससे साफ़ तौर पर केन्द्रीय पार्टियों को फायदा होगा क्योंकि ऐसा होने पर जम्मू से बीजेपी के विधायक ज्यादा जीतेंगे और जम्मू कश्मीर में पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनने के आसार भी बनेंगे, लेकिन इससे महबूबा मुफ्ती बेहद खफा है.

 

अमित शाह के इस आदेश से महबूबा और उम्र जैसे नेताओं की राजनीति ही खत्म हो जायेगी इस तिलमिलाहट में महबूबा ने अपने ट्विटर पर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा ‘ जमू कश्मीर हमेशा से ही एक राजनीतिक समस्या रहा है लेकिन सबने इसे सैन्य मसला बना दिया. इसे उसी तरह से हल किया जाना चाहिए और इसमें पाक का भी एक पक्ष रखा जाए लेकिन जिस तरह से अभी की सरकार कदम उठा रही है वो बेहद ही क्रूर है.’

महबूबा मुफ्ती ने जिस तरह से पाकिस्तान का पक्ष रखा उसके बाद देश भर में उनकी काफी आलोचना हुई और आलोचना करने वालो में सबसे अगुआ नेता बने सांसद गौतम गंभीर. गौतम गंभीर लिखते है ‘हम कश्मीर की समस्या को हल करने की बात कर रहे है लेकिन लेकिन महबूबा मुफ्ती अमित शाह द्वारा किये गये सही काम को भी क्रूर बता रही है. इतिहास गवाह रहा है हमने सब्र किया है, अगर लोगो की सुरक्षा को निर्धारित करना क्रूरता है तो यही सही है.’

गौतम गंभीर जिस तरह से राष्ट्रवादी मसलो पर अपनी राय रखते है और नरेन्द्र मोदी के विजन को आगे ले जाने की बात करते है इससे उनकी अच्छी खासी साख बन चुकी है और युवावर्ग में खूब लोकप्रिय है. गौरतलब है कि गौतम जब राजनीति में नही थे तब से ही कश्मीर जैसे मुद्दों पर बोलते रहे है.