मायावती ने अखिलेश पर फोड़ा हार का ठीकरा, स्वामी प्रसाद ने उड़ायी मायावती की खिल्ली

248

उत्तर प्रदेश की राजनीति एक बार फिर से चुनावों के बाद में गरमा गयी है और इस गरमा गर्मी में एक दुसरे पर वार दिन ब दिन बढ़ते ही चले जा रहे है और इस कदर बढ़ते चले जा जा रहे है जिसका कोई भी सानी नही है. ऐसे में सबसे पहले तो आरोपों का दौर शुरू हुआ बसपा सुप्रीमो मायावती की तरफ से. दिल्ली में आयोजित एक समीक्षा मीटिंग में अधिकतर नेता जिनमे मायावती भी शामिल थी उन्होंने कहा कि सपा के साथ गठबंधन करने से हमें कोई भी फायदा नही हुआ है.

यही नही मायावती ने तो ये तक भी कह दिया कि उनकी अपनी वोटो पर ही कोई कमांड नही है, इसके बाद बसपा ने अगले उपचुनाव अकेले ही सभी सीटो पर लड़ने का फैसला कर लिया है. ये गठबंधन टूटने के आसार थे और जब अखिलेश यादव से इस पर प्रतिक्रिया मांगी गयी तो उन्होंने मुंह फेर लिया लेकिन बीजेपी इसके बीचमे जरुर कूद गयी है.

बीजेपी के नेता और केबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने मायावती के इन बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जिस तरह से पहले मुलायम चरखा दांव चलते थे वैसा ही दांव मायावती ने अखिलेश के साथ चला है जिसमे अखिलेश फंसे और परास्त हो गये. अखिलेश ने मायावती की खिल्ली उड़ाते हुए कहा बसपा ने गठबंधन का फायदा उठाया और वो शून्य से 10 सीट पर पहुँच गयी जबकि सपा 5 की 5 सीट पर ही रही.

एक तरीके से स्वामी प्रसाद मौर्या ने मायावती को आइना दिखाते हुए दिखाया कि अखिलेश ने किस तरह से उनकी जान खो चुकी पार्टी में जान फूंकी और खुद को पीछे धकेल दिया. हालांकि अभी तक समाजवादी पार्टी अभी तक कोई भी किसी भी तरह की प्रतिक्रिया देने से बच रही है. अखिलेश ने अपने परिवार और पार्टी के कई नेताओं के खिलाफ जाकर बुआ के साथ गठबंधन किया था जिसके परिणाम अब बेहद ही विपरीत आ रहे है.