तय हो गया सबका विभाग, जानिये किस कैबिनेट मंत्री को कौनसा मंत्रालय मिला है?

351

पीएम नरेंद्र मोदी और उनके सांसदों ने कल मंत्री शपथ ले ली. मोदी ने बेहद ही ख़ास और करीबी लोगो को अपनी केबिनेट में शामिल किया है. इसमें कई नये चेहरे शामिल हुए और कई पुराने चेहरों को बाहर कर दिया गया. अब जो बाहर हुए सो हुए फिलहाल तो अब हम आपको बताते है किन केबिनेट के मंत्रियो को कौन कौनसा मंत्रालय दिया गया है?

अमित शाह जो जो भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष रहे है है. उन्होंने गुजरात के गांधीनगर से लोकसभा चुनाव जीता है और आज बीजेपी जिस पोजीशन पर है उसके पीछे कही न कही अमित शाह का ही हाथ है. अमित शाह देश के अगले गृहमंत्री होने जा रहे है.

नितिन गडकरी जो पिछली केबिनेट का भी हिस्सा रहे थे. संघ में उनकी अच्छी साख है और ऐसे में नतिन गडकरी को अपना पुराना मंत्रालय वापिस दिया गया है. नितिन गडकरी के हाथ सड़क एवं परिवहन   मंत्रालय आया है.

राजनाथ सिंह भी पिछली केबिनेट में मोदी के मंत्री थे. उनके पास में पहले गृह मंत्रालय था लेकिन इस बार राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्रालय दिया गया है. उनकी जगह अब इस केबिनेट में अमित शाह ने ले ली है.

निर्मला सीतारमण जो पिछली मोदी सरकार में रक्षा मंत्री थी उनका मंत्रालय भी बदल दिया गया है. निर्मला सीतारमण को इस बार वित्त मंत्री बनाया गया है. इस बार अरुण जेटली ने अपनी असमर्थता जाहिर की थी जिसके चलते वो सरकार में नही आये और निर्मला सीतारमण इस बार वित्त मंत्री बनी है.

पीयूष गोयल ने पिछली सरकार में रेल मंत्रालय में काफी बेहतर काम किया था जिसके चलते उन्हें एक बार फिर से रेल मंत्रालय सौंपा गया है. पीयूष गोयल नरेंद्र मोदी और अमित शाह दोनों के ही काफी करीबी माने जाते है.

स्मृति ईरानी जो भाजपा की केबिनेट की सबसे युवा महिला मंत्री है और उन्होंने राहुल गांधी को भी चुनाव में हराया है, उन्हें इस चुनाव में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय दिया गया है.

सुषमा स्वराज ने इस बार चुनाव नही लड़ा है और न ही वो इस बार मोदी केबिनेट का हिस्सा बनी है जिसके चलते पूर्व नौकरशाह एस जयशंकर को देश का विदेशमंत्री बनाया गया है. वो पहले विदेश सचिव भी रह चुके है जिसके चलते उन्हें इस सम्बन्ध में अधिक जानकारी है.

प्रकाश जावडेकर को मोदी केबिनेट में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय दिया गया है. जावडेकर ने पिछली सरकार में भी काफी बेहतर प्रदर्शन किया था.

इन सबके अलावा डॉक्टर हर्षवर्धन को स्वास्थ्य मंत्रालय, गजेन्द्र सिंह शेखावत को जल मंत्रालय और मुख्तार अब्बास नकवी को अल्पसंख्यक मंत्रालय दिया गया है.