ममता बनर्जी के सामने जय श्री राम बोलने पर 7 लोग गिरफ्तार

80

पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हालत बेहद ही बदतर हो रखी है जो वहाँ पर नागरिको की फ्रीडम ऑफ स्पीच दबते हुए देखकर के नजर भी आती है. अभी फ़िलहाल ये मामला पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना का है जहाँ के एक इलाके से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री का काफिला गुजर रहा था और गुजरते हुए काफिले के आस पास खड़ी हुई भीड़ ने जोर जोर से जय श्री राम के नारे लगाना शुरू कर दिय. ममता बनर्जी ने जैसे ही ये नारे सुने तो वो गुस्से से भड़क उठी. ममता बनर्जी तुरंत अपनी गाडी से उतरी और अपने पुलिसकर्मियों से उन्हें ढूँढने के लिए कहने लगी.

साथ ही साथ ममता बनर्जी ने सड़क पर खड़े होकर के वहाँ पर मौजूद लोगो को धमकी देते हुए कहा कि मैं तुम्हे चुन चुनकर बदला लूंगी, तुम्हे ढूंढ लूंगी. यहाँ तक कि ममता ने उन लोगो पर बाहरी होने का भी इल्जाम लगा दिया और वहाँ से गाडी लेकर के चली गयी.

ममता बनर्जी चली गयी और सबको लगा कि बात खत्म हो गयी लेकिन ऐसा कि मामला खत्म हो गया है मगर ऐसा नही हुआ. ममता बनर्जी के जाने के बाद में बंगाल पुलिस ने वहाँ पर पुलिस ने कार्यवाही की और मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ वहाँ पर जय श्री राम बोलने की वजह से 7 लोगो को हिरासत में ले लिया गया है. कही कही पर ये आंकड़ा बढ़कर के 10 भी हो गया.

यानि एक राज्य जहाँ पर लोगो को फ्रीडम ऑफ स्पीच तक नही है और ये अपने आप में बेहद ही दुखद है. इससे पहले भी बंगाल में बीजेपी नेता प्रियंका शर्मा को महज एक फनी फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के लिए जेल भेजा जा चुका है. बंगाल में अक्सर लोगो को टीवी के सामने से बोलने से भी डर दिखाई देता है जो कही न कही एक बुरा संकेत है. फ़िलहाल गिरफ्तार किये गये उन लोगो के साथ में क्या होता? ये तो श्री राम ही जाने, आखिर जयकारा भी उन्ही का ही लगा था.