ये है मोदी सरकार का 100 दिन का एक्शन प्लान, किये जायेंगे देश में 7 प्रमुख बदलाव

191

मोदी सरकार को एक बार फिर से बहुमत मिला है और काफी बड़े स्तर पर बहुमत मिला है जिसके बाद में अब सरकार की जिम्मेदारी बन गयी है कि वो नागरिको के लिये काम करे, उनके जीवन की गुणवत्ता के स्तर को सुधारे और साथ ही साथ देश को विकास के पथ पर ले जाये. ऐसे में मोदी सरकार ने 100इन दिन का एजेंडा तय किया है और इन 100 दिनों में सरकार के कुछ ख़ास एजेंडे होंगे जिन्हें पूरा किया जाना है.

इन पर काम चुनावों से पहले ही शुरू कर दिया गया था क्योंकि नरेंद्र मोदी अपनी जीत को लेकर के आश्वस्त थे और पूरी तरह से थे. चलिये फिर जानते है वो मुख्य 10 काम जो ये 2019 लोकसभा में जीती एनडीए सरकार करने की मंशा रखती है.

  1. कारोबार को सुगम बनाने का प्रयास किया जाएगा ताकि इज ऑफ डूइंग बिजनेस में भारत की रैंकिंग को सुधारा जा सके. इसमें जीएसटी रिफार्म से लेकर नये क्षेत्रो के सृजन का काम भी शामिल है. इसके अलावा निवेश के लिए विदेशी कम्पनियों को आकर्षित किया जा सकता है जो कि अमेरिका चीन ट्रेड वार से दूर अपने लिए बेहतर जगह तलाश सके.
  2. खेती से जुड़े लोगो को सालाना 6 हजार देने वाली योजना का विस्तार किया जाएगा. यानि इसमें और भी उपयुक्त किसानो को जोड़ा जायेगा ताकि योजना का फायदा और भी अधिक लोगो तक पहुँच सके.
  3. ऐसे लेबर क़ानून जो भी व्यवसायों को विस्तार करने से रोकते है उनमे सुधार किया जाएगा. इससे फ्रीलांस और आंशिक रूप से काम करने वाले लोगो को फायदा होगा.
  4. संभव है कि पेट्रोलियम और गैस आदि को भी जीएसटी के दायरे में लाया जाये. ऐसा किये जाने पर संभव है पेट्रोल की कीमतों पर सरकार का नियंत्रण थोडा बेहतर हो सकेगा.
  5. प्राकृतिक संसाधनों के उपयोग के लिए निजी क्षेत्र का सहारा लिया जाएगा जैसे कोयला उत्पादन आदि. इससे सरकारी खजाने को भरने के साथ ही साथ देश को पर्याप्त ऊर्जा देने की कोशिश की जायेगी.
  6. रोजगार के अवसर विकसित किये जायेंगे. ये काम खासतौर पर प्राइवेट सेक्टर में अधिक किया जाएगा और इसमें सरकार निजी कम्पनियो को पूरा सहयोग भी देगी.
  7. संभव है कि आयकर स्लैब में बदलाव कर मध्यम वर्ग को और राहत दी जाए. इसके अलावा कॉर्पोरेट और गवर्नेंस को सुधारा जाएगा जिसमे डिजिटलीकरण का सहारा ख़ास तौर पर लिया जाएगा.