इस मुस्लिम परिवार ने अपने घर जन्मे बच्चे का नाम रखा ‘नरेंद्र दामोदरदास मोदी’

198

ऐसा एक बार नही कई बार देखने में आता है कि नरेन्द्र मोदी की छवि को एंटी मुस्लिम करार दे दिया जाता है. विपक्ष ने इसका खूब फायदा भी उठाया है ताकि एंटीमोदी वोट्स बनाकर अपने पक्ष में किये जा सके लेकिन हकीकत इन सब चीजो से कोसो दूर है. अभी हाल ही में ऐसा ही मामला देखने में आया जिसमे एक मुस्लिम महिला का मोदी प्रेम झलक कर बाहर निकल आया.

ये पूरा वाकिया उत्तर प्रदेश राज्य के वजीरगंज का है जहाँ पर रहने वाली एक मुस्लिम महिला मैनाज बेगम को एक बच्चा हुआ और संयोगवश ये बच्चा 23 मई को हुआ जब नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा ने अब तक के सबसे अधिक बहुमत हासिल कर लोकसभा में अपने आपको ताकतवर साबित कर लिया. इस दिन की ख़ुशी को देखते हुए मैनाज ने फैसला किया कि वो भी अपने बेटे का नाम ‘नरेंद्र दामोदरदास मोदी’ रखेगी.

सुनने में थोडा सा अजीब जरुर लग रहा होगा और ऐसा ही अजीब मैनाज के घर वालो को भी लगा तो उन्होने उसे ये नाम रखने से मना कर दिया. घर वालो के मना करने के बाद भी मैनाज अपनी जिद पर अड़ गयी. मैनाज को उसके पति से भी बात करवाई गयी जो फ़िलहाल दुबई में नौकरी कर रहा है मगर फिर भी उसकी इच्छा पर कोई भी असर नही हुआ. आखिरकार सभी को एक माँ के सामने घुटने टेकने ही पड़े और आखिरकार मैनाज के बेटे का नाम ‘नरेंद्र दामोदरदार मोदी’ रखा गया.

अब परिवार को भी इस बात से कोई दिक्कत नही है और ये अपने आप में एक मिसाल बन गयी है कि किस तरह से नरेंद्र मोदी अप्नेने अलग किस्म की पैठ ख़ास तौर पर मुस्लिम महिलाओं के बीच बना चुके है. मैनाज का कहना है कि वो पीएम मोदी की उज्जवला योजना, शौचालय योजना और प्रधानमंत्री आवास योजना से बहुत ही ज्यादा खुश है और उसने कई लोगो की जिन्दगी इनकी वजह से बदलते देखी है, जिसके चलते वो उनकी इतनी बड़ी प्रशंसक बनी कि अपने बेटे का नाम भी नरेंद्र मोदी ही रख दिया. सोशल मीडिया पर मैनाज के इस काम की काफी सराहना हो रही है.