अगर किसी वजह से बीजेपी को बहुमत से कम सीटे मिली, तो तुरंत ये काम करेगा एनडीए

316

पूरे देश की धड़कन बढ़ने लगी है और दो धड़ो में बंट सा गया है और सभी के सभी लोग ईवीएम खुलने का इन्तजार कर रहे है ताकि पता चल सके देश में किसकी सरकार बनने वाली है? अब ऐसे में बीजेपी काफी ज्यादा शक्तिशाली स्थिति में बताई जा रही है और इसके पीछे का कारण मोदी फैक्टर है. मोदी के नाम पर बीजेपी को अच्छे खासे वोट तो मिले है लेकिन क्योंकि सामने महागठबंधन है तो कही न कही एक आसार ये भी है कि कही न कही कुछ सीट कम पड़ भी सकती है, तो ऐसी स्थिति में क्या किया जाये?

अगर किसी भी स्थिति में बीजेपी को बहुमत का आंकडा नही मिलता है तो फिर ऐसे में एनडीए की मदद से तत्काल बहुमत जुटाया जाएगा और सरकार बनाने की कवायाद शुरू होगी. किसी आपात स्थिति में बाहरी समर्थन लेने के लिए भी आपस में संपर्क रखने के पूरे पूरे संकेत दे दिए गये है जिससे कही न कही ये आश्वस्तता तो मिल ही जाती है कि सरकार बीजेपी की बनती हुई नजर आ रही है क्योंकि उनके पास पहले से ही मास्टरप्लान तैयार है.

एनडीए पार्टियों ने एक सामूहिक डिनर भी आयोजित किया था जिसके जरिये सभी घटक दलों के एक साथ होने का भरोसा कायम किया गया है. वही बात करे अगर अन्य दलों और यूपीए की तो वहाँ पर कोई भी रणनीति और प्लान दूर दूर तक नजर नही आता है क्योंकि यहाँ हर नेता अपने आपको पीएम पद का दावेदार समझ रहा है और यही महागठबंधन के कमजोर होनें की सबसे बड़ी वजह है.

हालांकि उनका तो यही दावा है कि अगर बीजेपी किसी भी सूरत में सरकार बनाने से दूर दिखी तो वो लोग सरकार बनाने का दावा पेश कर देंगे और इसकी उन्हें पूरी उम्मीद भी है. खैर अब इसमें महज 12 घंटे के आस पास का वक्त बचा है और कुछ ही समय में सब साफ़ हो जाएगा कि देश का प्रधानमंत्री कौन बनेगा?