ममता बनर्जी ने अमित शाह और मोदी को दी जेल भेजने की धमकी

97

बंगाल में इन दिनों में चुनाव में मुद्दों की बात कम और आरोप प्रत्यारोप ज्यादा चल रहे है. चुनाव अपने असली मुद्दों से मानो भटक ही गया है और लोग लगातार देख रहे है कि किस तरह से विकास की राजनीति गायब ही हो गयी है. बीजेपी जितना बंगाल में पांव पसारने की और वहां पर चुनाव जीतने की कोशिश कर रही है उतना ही ममता बनर्जी अपनी सरकारी मशीनरी और मंत्री शक्तियों का इस्तेमाल करके उन्हें रोकने की जुगत में है जिसका नजारा हाल ही में देखने में आया है.

ममता बनर्जी ने मीडिया के सामने और लोगो के बीच में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही धमकी दे डाली. ममता बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पश्चिम बंगाल की जनता से झूठ बोलने के लिए उनसे उठक बैठक करने के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए.

ममता बनर्जी ने इसी के साथ अमित शाह और पीएम मोदी को जेल में भेजने की भी धमकी दे डाली है जो कही न कही अलोकतांत्रिक है और इंदिरा गांधी के उस दौर की याद दिलाता है जब वो अपने राजनीतिक विरोधियो को इसी तरह से ही जेल में डाल दिया करती थी जैसा कि ममता बनर्जी करने की धमकी दे रही है. ममता बनर्जी ने इसी के साथ चुनाव आयोग पर भी बिके हुए होने के आरोप लगाये और कहा कि वो बीजेपी के इशारे पर काम कर रहा है और हमें राजनीतिक केम्पेन करने से रोक रहा है.

इससे पहले भी प्रेस वार्ता करके ममता बनर्जी बीजेपी के दफ्तर और बीजेपी के लोगो के घरो पर कब्जा करने की धमकी दे चुकी है जिसके बाद में सोशल मीडिया पर ममता बनर्जी की जमकर के आलोचना की गयी थी और ममता बनर्जी को इस देश के लोकतंत्र और लोकतांत्रिक व्यवस्था के लिए बड़ा खतरा बताया गया. ऐसे में अब देश को सुरक्षित रखने के लिए न्यायपालिका से ही उम्मीद की जा सकती है.