अब कपिल सिब्बल ने भी मान लिया ‘कांग्रेस की सरकार नही बन पायेगी’

305

लोकसभा के चुनाव अपने अंतिम चरण में पहुँच चुके है और राजनीतिक पंडितो ने अपनी अपनी भविष्यवाणियाँ करनी शुरू भी कर दी है. हर कोई अपने अपने तरीके से चुनावी परिणामो से जुडी घोषणाये करने में लगा हुआ है और अधिकतर लोगो की बाते और उनके द्वारा बताये गये रिजल्ट उनकी पार्टी के पक्ष में ही होते है, मगर कांग्रेस के साथ में इसका बिलकुल उल्टा हो रहा है. कांग्रेस के काफी वरिष्ठ नेता और वकील कपिल सिब्बल ने इस संभावना को सिरे से खारिच ही कर दिया है कि कांग्रेस को इन लोकसभा चुनावों में बहुमत मिल सकता है.

कपिल सिब्बल ने कहा कि अगर कांग्रेस को आम चुनावों में बहुमत मिलने का भरोसा होता तो वो राहुल गांधी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार जरुर घोषित करते, क्योंकि राहुल गांधी पार्टी में बिलकुल अविवादित नेता है. मगर अभी ऐसा बिलकुल भी नही लगता है कि कांग्रेस को बहुमत मिलने वाला है.

कपिल सिबल से एक सवाल ये भी पूछा गया कि अगर महागठबंधन जीत जाता है तो? इस सवाल को टालते हुए उन्होंने कह दिया इसका फैसला महागठबंधन 23 मई के बाद में कर लेगा. कपिल सिब्बल ने माना है कि वो अपने दम पर 272 सीटे नही ला सकते है लेकिन महागठबंधन वाला नेतृत्व आगे रहेगा और जरूरत पड़ेगी तो कांग्रेस उसे विस्तार देगी. यानि कपिल सिब्बल ये तो मान रहे है कि अब वो सरकार बनाने के काबिल नही बची लेकिन वो ये भी कहते है कि सपा, बसपा और राजद जैसी पार्टियों के जरिये उन्हें सत्ता की चाबी मिलने की संभावना है.

उनके शब्दों में भारी निराशा दिखाई पड़ रही है जो कांग्रेस पार्टी के लिए तो किसी भी एंगल से सही नही है. वही दूसरी तरफ बात करे अगर भारतीय जनता पार्टी की तो उनकी तरफ से कहा जा रहा है कि हम लोकसभा में बहुमत को लेकर के पूर्ण रूप से आश्वस्त है और फिर एक बार मोदी सरकार ही बनने जा रही है.