साध्वी प्रज्ञा बीजेपी में शामिल, दिग्विजय सिंह के खिलाफ लड़ेगी चुनाव

223

देश में चुनाव चल रहे है और चुनावों के बीच कुछ प्रत्याशी ऐसे उभरकर के आते है जो बिलकुल ही अप्रत्याशित होते है और इस बार ऐसा ही कुछ भोपाल की सीट पर हो रहा है. मालेगाव धमाको में आरोपी रही साध्वी प्रज्ञा काफी लम्बे समय के बाद जांचो से मुक्त हुई और बहुत सारी पीड़ा लेकर के लौटी है. वापिस आकर के उन्होंने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन की और बीजेपी की तरफ से उन्हें भोपाल की लोकसभा सीट से टिकट दे दिया गया है. उनके खिलाफ चुनाव में दिग्विजय सिंह है और दिग्विजय सिंह वही नेता है जिन्होंने साध्वी प्रज्ञा को निशाना बनाकर के एक समय में हिन्दू आतंकवाद शब्द को इजाद किया था और इसके बाद में ये प्रचलन में आया.

इसके बाद साध्वी प्रज्ञा को जेल में बन्द रखा गया और उन पर कई तरह की धाराए भी लगी. कई सालो तक जांच चली और साध्वी प्रज्ञा के दावो के अनुसार उनके साथ में अमानवीय व्यवहार किया गया जिसके बाद में भी कोई सबूत नही मिले जिसके चलते वो बरी हुई और अब एक सामान्य जीवन जी रही है. मगर साध्वी प्रज्ञा ने बाहर आते ही अब राजनीति में कदम रखा है और संभवत वो दिग्विजय सिंह ने उन्हें जो सताया था और उनपर जो पब्लिक में तंज कसे थे उसका वो जवाब देना चाहती है.

आपको बता दे साध्वी प्रज्ञा पहले से ही दुर्गा वाहिनी और अभिनव भारत नाम के संगठन का हिस्सा है जो अपनी एक बहुत ही बड़ी तादात रखते है और इसका प्रभाव जाहिर तौर पर चुनाव में देखने को मिलेगा वही साध्वी प्रज्ञा को एक सहानुभूति भी लोगो की हासिल है जिसके चलते उन्हें चुनावों में फायदा होना तय है लेकिन इससे दिग्विजय सिंह टेंशन में जरुर आ चुके है.

दिग्विजय सिंह अपने बेतुके बयानों के चलते पहले ही कांग्रेस पार्टी के बाकी नेताओं से अलग थलग हो चुके है और अगर वो ये चुनाव हार जाते है तो उनके राजनीतिक जीवन को तिलांजली ही समझी जायेगी.