दलित मायावती की पार्टी सबसे अमीर, बीजेपी सबसे पीछे 5वे स्थान पर

505

मायावती वैसे तो अपने आपको एक शोषित वर्ग से दिखाती है और यूँ जाहिर करती है कि उनकी पार्टी के पास में कुछ भी नही है लेकिन हकीकत तो कुछ और ही है. मायावती की बीएसपी ने बैंक बैलेंस के मामले में देश की बड़ी बड़ी राष्ट्रीय पार्टियों तक को भी धुल चटा दी है, बाजूद इसके कि वो एक क्षेत्रीय पार्टी है. एक मीडिया रिपोर्ट की माने तो एनसीआर में मौजूद बैंक एकाउंट्स में मायावती की पार्टी बसपा के पास 669 करोड़ रूपये जमा है. पिछले कुछ समय में इसमें बहुत ही अभूतपूर्व बढोती हुई है जिसके चलते बसपा ने पहला स्थान प्राप्त किया है.

इसके बाद में दुसरे नम्बर पर समाजवादी पार्टी, तीसरे नम्बर पर कांग्रेस और चौथे नम्बर पर टीडीपी है जबकि देश पर शासन कर रही भारतीय जनता पार्टी पैसे डिपोजिट रखने के मामले में सबसे पीछे पांचवे नम्बर पर है. ये उन खातो से जुडी हुई जानकारी है जो पार्टियों के पास में है और ये सार्वजनिक समय समय पर पारदर्शिता के लिए किया जाता है. आपको बता दे इस पूरी राशि का लगभग 90 प्रतिशत हिस्सा सहयोग से आता है और इसे जमा कर लिया जाता है.

अगर ऐसा ही चलता रहा तो वो दिन दूर नही है जब बसपा के पास में किसी देशव्यापी स्कीम्स में लगने वाले पैसे से भी ज्यादा फंड होगा और इससे देश की इकॉनमी को बुरा असर पड़ता है जब कोई पैसा ठंडा होकर के किसी अकाउंट में शिथिलता के साथ यूँ पोलिटिकल विल के साथ में पड़ा रहे. अब इस पर बीजेपी ने तो तीखी प्रतिक्रिया दे दी है और समर्थक मायावती को सोशल मीडिया पर ट्रोल भी कर रहे है

मगर उनकी तरफ से अभी तक कोई भी जवाब नही आया है. मायावती के पास में अपनी निजी सम्पति भी 111 करोड़ रूपये 2012 के आंकड़े के अनुसार थी और पिछले 6 वर्षो में मायावती ने उससे भी अधिक धन जमा किया है मगर इसके स्त्रोत क्या थे?