मायावती को सताने लगा हारने का डर, सारा ठीकरा चुनाव आयोग और ईवीएम के सर फोड़ा

490

देश भर में लोकसभा चुनाव शुरू हो गये है और पहला चरण पूर्ण भी हो चुका है जिसमे देश के कई राज्यों में चुनाव संपन्न हुए और इसमें उत्तर प्रदेश के भी कई लोकसभा क्षेत्र शामिल थे. चुनाव हुए और काफी शान्तिपूर्ण तरीके से हुए लेकिन इसके बाद में मायावती ने अपना असंतोष जाहिर कर दिया. उत्तर प्रदेश में मायावती समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन करके लड़ रही है मगर उन्हें अपना अच्छा खासा वोट बैंक होते हुए भी जीत का भरोसा नही दिखाई दे रहा है और इस वजह से मायावती ने अब से ही नये नये बहाने देने शुरू कर दिए है जो किसी के भी गले नही उतर रहे है.

मायावती ने अभी हाल ही में एक ट्वीट किया है जिसमे उन्होंने कुछ बाते कही है और इसमें मायावती बीजेपी पर आरोप लगा रही है कि भारतीय जनता पार्टी नोटों के जरिये वोट खरीद रही है. बीजेपी चुनाव में ईवीएम में धांधली कर रही है. हर तरफ अपनी शक्ति और प्रशासन का दुरूपयोग कर रही है और साथ ही साथ में मायावती ने चुनाव आयोग को भी नही बख्शा है.

मायावती ने चुनाव आयोग के कर्मचारियों पर ही आरोप लगाते हुए कह दिया है कि चुनाव आयोग के कर्मचारी खुद ही बटन दबाकर के चुनाव में धांधली कर रहे है. ये अपने आप में एक बेहद ही संगीन और गैर जिम्मेदाराना आरोप है जिसका कोई भी सबूत मायावती के पास में नही है लेकिन फिर भी उन्होंने ऐसा आरोप लगाकर के पूरे विश्व में, दुनिया भर में भारत के चुनाव आयोग को बदनाम करने का काम किया है.

सोशल मीडिया पर लोग इस बात को लेकर के मायावित को बहुत ट्रोल कर रहे है और कह रहे है कि ये बात बिलकुल गलत है कि अगर आप जीत जाये तब तो सब सही था मगर अगर आप हारे तो आप उसका ठीकरा किसी और के सर फोड़ दे.