महबूबा मुफ्ती ने फिर से दी कश्मीर को भारत से अलग करने की धमकी

832

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक बार से विवादास्पद बयान दे दिया है जिसके बाद में देश भर में उनके खिलाफ कार्यवाही तक की मांग होने लगी है. महबूबा मुफ्ती एक कार्यक्रम को संबोधित कर रही थी जिसमे उन्होंने भारत में कश्मीर और भारत के कश्मीर से संबंधो पर अपने विचार रखे और उसमे कश्मीर को भारत से अलग दिखाने की कोशिश की. महबूबा मुफ्ती ने कहा अनुच्छेद 370 को हटाना अपने आप में बहुत ही बुरा होगा. अगर ऐसा होता है, अगर 370 को हटाया जाता है तो भारत और कश्मीर के बीच में जो रिश्ता है जो पुल है वो टूट जाएगा. आप उसी पुल को तोड़ेंगे तो महबूबा मुफ्ती जम्मू कश्मीर और हिन्दुस्तान के क़ानून की कसम खाती है. हम आपका साथ भला कैसे दे सकते है?

फिर तो बात दुबारा 1947 वाले सिरे पर आ जायेगी और एक बार फिर से नये सिरे से रिश्ते तय करने होंगे. इन शब्दों के जरिये महबूबा मुफ्ती ने साफ़ साफ़ शब्दों में कह दिया है कि अगर कश्मीर से धारा 370 हटाई जाती है तो कश्मीर भारत का हिस्सा नही रहेगा और महबूबा मुफ्ती उन लोगो में शामिल होगी जो भारत का साथ नही देंगे.

महबूबा मुफ्ती का कहना है अगर ऐसा हुआ तो दुबारा उसी दौर में होंगे जो 1947 में था और इसके बाद कश्मीरी तय करेंगे कि उन्हें क्या करना है? ये देश का क़ानून ही है जिसके चलते महबूबा इतने देशविरोधी बयान देकर के भी खुले में घूम रही है. उन पर अलगाववादियों की मदद करने का भी आरोप लगा है जो मासूम लोगो की जान लेते है. इससे पहले भी वो कई बार ऐसे विवादास्पद बयान दे चुकी है लेकिन इस बार उन्होंने साफ़ साफ़ शब्दों में धमकी दी है और ये अपने आप में बेहद संवेदनशील मसला है.

आपको बता दे कश्मीर पर पाक के हमले के वक्त भारत से ही कश्मीर के राजा ने अपनी सेना भेजकर मदद करने की गुजारिश की थी और बदले में कश्मीर भारत में शामिल हो गया था जिसके बाद से अब दुनिया काफी बदल चुकी है और क्योंकि कश्मीर भारत का एक राज्य है तो उसके अधिकार भी अन्य राज्यों के समतल करने का समय आ गया है और उसी का विरोध हो रहा है.