हार्दिक पटेल को हाईकोर्ट से बड़ा झटका, नही लड़ पायेंगे चुनाव

811

हार्दिक पटेल इन दिनों में काफी तेजी से उभरते हुए क्षेत्रीय और जातिगत नेता बने है. उन्होंने पाटीदार आन्दोलन के जरिये अपनी राजनीतिक कमान संभाली और हाल ही में हार्दिक पटेल ने कांग्रेस पार्टी भी ज्वाइन कर ली. कयास लगाये जा रहे थे कि हार्दिक पटेल कांग्रेस पार्टी की तरफ से ही गुजरात से लोकसभा का चुनाव लड़ सकते है और इससे कांग्रेस को पाटीदार समुदाय का भरपूर सपोर्ट मिलेगा लेकिन हार्दिक की राजनीतिक पारी तो शुरू होने से पहले ही खत्म हो गयी हिया और इस पर रोक लगाने का काम किया है गुजरात हाईकोर्ट ने. गुजरात हाईकोर्ट की तरफ से कन्हैया कुमार के चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी गयी है और इसके पीछे की वजह है कन्हैया कुमार के खिलाफ दर्ज हुए केस.

कन्हैया कुमार मेहसाणा गुजरात में हुए दंगो में दोषी है जिसके चलते कोर्ट ने उन्हें दो साल की सजा भी सुना रखी है. हालांकि बादमे कोर्ट ने उन्हें जमानत पर छोड़ भी दिया था लेकिन वो दोषी तो अभी भी है. ऐसी स्थिति में हादिक पटेल पर जनप्रतिनिधि क़ानून 1951 लगता है जिसके तहत वो इस बार का लोकसभा चुनाव नही लड़ पाएंगे.

चुनाव लड़ने के लिए हार्दिक पटेल ने कोर्ट में इसके लिए याचिका भी डी थी लेकिन उनकी याचिका ही खारिच कर डी गयी. उनके वकील का कहना था कि वो इस बार का चुनाव लड़ना चाहते है और कोर्ट के इस फैसले के बाद वो चुनाव नही लड़ पा रहे है जिसके चलते उन्हें काफी भारी क्षति होगी लेकिन कोर्ट ने इस पर विचार करने से ही मना कर दिया और इसके चलते  हार्दिक पटेल राजनीतिक क्रियाएं तो कर सकते है लेकिन उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगी रहेगी.

आपको बता दे हार्दिक पटेल उन लोगो में शामिल है जो गुजरात में हुए पाटीदार आँदोलन के पुरोधा कहे जाते है. इस आँदोलन को हार्दिक पटेल ने ही हिंसक बनाया था जिसमे सरकारी सम्पति को भारी नुकसान पहुंचाया था और मेहसाना की हालत बहुत ही बदतर की जा चुकी थी.