सर्वे में सपा बसपा गठबंधन फेल, जीत पायेंगे महज इतनी सीटे

4577

चुनाव जैसे जैसे नजदीक आ रहे है वैसे वैसे कई सर्वे हो रहे है कई एनालिसिस सामने आ रहे है और अभी हाल ही में जो एनालिसिस सामने आया है उसमे सपा और बसपा को करारा झटका मिलने जा रहा है. अगर इंडिया टुडे के एक एनालिसिस की माने तो अभी फ़िलहाल में यूपी की कुल 80 सीटो में से महज 35 सीटे ही ऐसी है जहाँ पर सपा और बसपा मिलकर के भारतीय जनता पार्टी को रोक पाने की हालत में है क्योंकि वहाँ पर इनका वोट बैंक काफी ज्यादा मजबूत है जबकि बाकी 45 सीटो की बात करे तो उनमे से 40 से भी ज्यादा सीटो पर बीजेपी की पकड़ इतनी ज्यादा है कि वहाँ से बीजेपी की मर्जी के बिना पत्ता भी हिला पाना मुश्किल हो रहा है और ये बात सपा बसपा गठबंधन को अब कचोटने लगी है.

वही बात करे कांग्रेस पार्टी की तो अगर अमेठी और रायबरेली को छोड़ दिया जाये तो कांग्रेस के लिए तो किसी भी अन्य सीट पर जीतने के आसार नजर ही नही आ रहे है और यूपी में कांग्रेस फेल हो रही है वही सपा बसपा गठबंधन होने के बावजूद अगर ये महज 35 सीटे ही ला पाने में कामयाब हो पाते है तो ये मायावती के राजनीतिक अस्तित्व पर बहुत ही बड़ा ख़तरा होगा

क्योंकि इसके बाद में यूपी की राजनीति में उनका कद हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा आखिर उन्होंने गेस्ट हाउस काण्ड भुलाकर के महज बीजेपी को हराने के लिए अपने 25 साल पुराने सबसे बड़े शत्रुओ समाजवादी पार्टी के लोगो से गठबन्धन कर लिया है और ऐसे में बसपा को कामयाबी नही मिली तो मायावती के खिलाफ जाहिर तौर पर पार्टी के अन्दर से ही बगावत होने के आसार है.

हालाँकि ये तो अभी सिर्फ एनालिसिस है पर इसे भी गंभीरता से लिया जा रहा है क्योंकि इन्सान झूठ बोल सकते है लेकिन आंकड़े कभी भी झूठ नही बोला करते है तो पार्टियां सीरियस भी हो रही है और सूत्र तो ये भी कह रहे है कि मायावती को जमीन खिसकने का डर इस कदर है कि वो इस बार अपनी दो सीटो से अपने प्रभारियो को चुनाव लड़वाने वाली है.