लड़की को ट्रेन में छेड़ रहे थे गुंडे, भाई ने ट्वीट कर माँगी रेल मंत्री से मदद और तुरंत..

1878

आज के वक्त में महिलाओ के लिए माहौल काफी असुरक्षित है और ऐसे में वो अकेले सफ़र करने से अक्सर कतराती भी है और ऐसा ही केस अभी हाल ही में देखने में भी आया. ये पूरा मामला नयी दिल्ली आ रही एपी एक्सप्रेस का है जो विशाखापत्तनम से चली थी. ट्रेन के थ्री टायर एसी कोच में एक लडकी चढी. लडकी के ट्रेन में बैठने के कुछ ही देर में तीन बदमाश अन्दर घुस आये और उन्होंने उसके साथ में छेड़खानी शुरू कर दी. आस पास बैठे लोग भी असहाय महसूस कर रहे थे. वहाँ पर लडकी का भाई भी मौजूद था तो उसने तुरंत अपने मोबाइल का इस्तेमाल करते हुए रेल मंत्री को ट्वीट करते हुए कहा

‘मेरी बहन इस ट्रेन से यात्रा कर रही है और कुछ बदमाश उसे छेड़ रहे है, प्लीज आप मदद करे उसने पीएनआर नम्बर भी शेयर किया’ कुछ ही मिनट में रेलवे पुलिस की तरफ से प्रतिक्रिया आयी और आगरा केंट के नजदीक एक पूरी पुलिस फाॅर्स वहाँ पर पहुँच गयी.

दो बदमाशो को धर लिया गया और तीसरे को भी पकड़ा गया. दुर्भाग्य की बात ये है कि तीसरा व्यक्ति इसमें सेना का जवान था जिससे जुडी जानकारी सेना पुलिस को भी दे दी गयी है ताकि उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जा सके. रेल मंत्री ने जिस तरह से त्वरित एक्शन लिया और एक लडकी को बचा लिया उसके बाद में कही न कही लोगो के मन में भारतीय रेल के प्रति सुरक्षित होने का भाव बढ़ा है.

आपको बता दे इस प्रथा की शुरुआत सुरेश प्रभु के द्वारा की गयी थी जो भारत के पूर्व रेल मंत्री थे. वो हर यात्री की समस्या को ट्विटर पर ही सुलझा लेते थे और लोग उनसे काफी इंस्पायर हुए और उनके काम को आगे बढाते हुए पीयूष गोयल भी इस काम को बखूबी निभा रहे है और इसके लिए उनकी तारीफ़ भी होती है. ऐसे कई केस देखने में आते है जिनमे रेलवे ट्विटर पर शिकायत मिलते ही तुरंत कार्यवाही करता है और ये भारतीय नागरिको को सुरक्षित होने का एहसास करवाता है.