अब हिंसा करने वालो के साथ खड़ी होगी कांग्रेस? भीम आर्मी मुखिया से मिली प्रियंका

418

राजनीति क्या क्या न कवाए? अभी हाल ही में ऐसा ही कुछ कांग्रेस के केस में भी देखने में आया है जब प्रियंका गांधी भीम आर्मी के मुखिया से मिलने के लिए अस्पताल में पहुँच गयी, आपको बता दे फ़िलहाल भीम आर्मी के मुखिया कहे जाने वाले चन्द्रशेखर मेरठ के आनंद अस्पताल में भर्ती है और अपना इलाज करवा रहे है. शाम के 5 बजे कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी चन्द्रशेखर से मिलने अस्पताल में पहुँची और उनके साथ में ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे.

साथ में स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने भी मिलने की कोशिश की लेकिन भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने स्थानीय नेताओं को बाहर से ही भगा दिया जिसके बाद प्रियंका ने अपने प्रमुख सहयोगियों के साथ में मिलकर भीम आर्मी के प्रमुख से बातचीत की और उनका हाल चाल जाना.

जब इस मिलन के सियासी मायने निकाले जाने लगे तो प्रियंका वाड्रा ने कहा कि ये सिर्फ और सिर्फ उनका हाल चाल पूछने के हिसाब से मिलना था इसके सियासी मायने न निकाले जाए जबकि अपनी पार्टी से बिलकुल ही बैर सी रखने वाले भीम आर्मी के प्रमुख से मिलने के पीछे का सबसे बड़ा कारण दलित वोटो को अपनी तरफ करना है और इस बात से कांग्रेस का कोई भी नेता परहेज नही कर सकता है.

आपको बता दे अभी फ़िलहाल भी चन्द्रशेखर को आचार सहिता के उल्लंघन के मामले में हिरासत में लिया गया था और इससे पहले भी वो दंगे भड़काने जैसे संगीन आरोपों में जेल की हवा खा चुके है. उनके खिलाफ नेशनल सिक्यूरिटी एक्ट जैसा संगीन केस भी चल चुका है, हालांकि हर बार चन्द्रशेखर राजनीतिक शेल्टर के चलते बचते चले आते है और अब वो दलित राजनीति का एक बड़ा चेहरा बनकर के उभरे है लेकिन इन सबके बावजूद कही न कही कांग्रेस का एक आरोपी से इस तरह से मिलना कही न कही सवाल तो खड़े करेगा ही करेगा.