पीएम मोदी ने खुद खिलाया बच्चो को खाना, योगी आदित्यनाथ ने भी दिया साथ

126

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमेशा से ही सामजिक कार्यो का हिस्सा बनते रहे है और इस बार फिर से पीएम इसकों द्वारा चलाए जा रहे अक्षयपात्र फाउंडेशन के कार्यक्रम का हिस्सा बनने के लिये वृंदावन पहुंचे. वृंदावन में हेलीकॉप्टर से पहुँचते ही सबसे पहले तो प्रधानमंत्री ने अपने देरी से पहुँचने के लिये माफी माँगी. इसके बाद कार्यक्रम शुरू हुआ जहाँ पर पहले से ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सांसद हेमा मालिनी, बाहुबली फिल्म के डायरेक्टर राजामौली और हिन्दुओ के लिये काम करने वाली संस्था इस्कोन के कई सदस्य गण मौजूद थे. ये मौक़ा था जब इस संस्था के एनजीओ के द्वारा 300 करोड वी थाली परोसी जानी थी. अब तक ये एनजीओ 300 करोड़ गरीब बच्चो को खाना खिला चुका है.

अक्षय पात्र भारत सरकार के द्वारा चलाए जा रहे पोषाहार प्रोग्राम और मिड डे मील प्रोग्राम भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेता है और गरीब स्कूली बच्चो तक खाना पहुंचाता है. पीएम मोदी ने वहाँ पहुंचकर गरीब बच्चो को खुद खड़े होकर खाना खिलाया. माहौल बेहद ही धार्मिक नजर आ रहा था और सभी की नजर बिल्कुल नरेंद्र मोदी पर ही टिकी हुई थी क्योंकि वो बड़े ही प्रेम भाव के साथ बच्चो को खाना खिला रहे थे.

नरेंद्र मोदी ने अक्षयपात्र संगठन की पूरी टीम का आभार जताया और उनके द्वारा किये गए कार्यो की सराहना भी की. आपको बता दे ये संगठन पिछले 19 वर्षो से कार्यरत है और इस दौरान इसने 3 अरब पौष्टिक थालियाँ बच्चो को बिना किसी शुल्क के खिलाई है ताकि उन्हें पोषण दिया जा सके. वहाँ पर मौजूद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी बताया कि अभी और 10 जिलो में अक्षयपात्र का भोजन मिलेगा.

फ़िलहाल 6 नयी रसोई का निर्माण हो रहा है. अक्षयपात्र में बनने वाला खाना बिलकुल साफ़, सात्विक, शाकाहारी, शुद्ध और स्वादिष्ट होता है जिसकी तारीफ़ बच्चो और उनके पेरेंट्स के द्वारा भी सुनने में आती रहती है. प्रधानमंत्री का ऐसे संगठनों से जुड़ना और उन्हें प्रोत्साहित करना इन कार्यो को प्रगति देगा.