जींद उपचुनाव में कांग्रेस बुरी तरह हारी, बीजेपी ने जीतकर फूंका चुनावी शंख

1277

उपचुनाव हर तरीके से आने वाले चुनावों की आशा और दिशा बताने में सक्षम होते है और हरियाणा के जींद में हुए उपचुनावों ने सब कुछ पानी की तरफ साफ़ कर दिया है. हरियाणा की जींद सीट में 28 जनवरी को चुनाव हुआ था और यहाँ पर त्रिकोणीय दंगल छिड़ता साफ़ साफ़ दिखाई पड़ रहा था. यहाँ भारतीय जनता पार्टी से प्रत्याशी कृष्णा मिड्ढा थे, जननायक जनता पार्टी से चुनाव में दिग्विजय चौटाला उतरे थे और कांग्रेस की तरफ से उनके दिग्गज प्रवक्ता कहे जाने वाले रणदीप सिंह सुरजेवाला उतरे थे.

हर तरफ से उपचुनावों में काफी जोर लगाया गया लेकिन आखिर में बाजी भारतीय जनता पार्टी मार गयी और बप प्रत्याशी कृष्णा मिड्ढा पूरे 12 हजार वोटो के साथ में विजयी हुए. जननायक जनता पार्टी से दिग्विजय चौटाला दुसरे स्थान पर रहे जबकि तीसरे नम्बर पर रहते हुए रणदीप सिंह सुरजेवाला अपनी जमानत तक बचाने में कामयाब नही हो पाए.

हालांकि मतगणना के दौरान अपने प्रत्याशी को पिछड़ते देख कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हंगामा भी खड़ा किया लेकिन पुलिस ने लाठीचार्ज करके सबको दूर खदेड़ दिया और शांति व्यवस्था को ज्यो का त्यों कायम करके रखा गया. शुरू के राउंड में लग रहा था की बीजेपी दुसरे स्थान पर रह जायेगी लेकिन पांचवे और छठे राउंड तक आते आते बीजेपी ने बड़ी भारी बढ़त बना ली और आखिरकार जीत हासिल हो गयी.

हरियाणा के जींद में हुए इस उपचुनाव को अगले लोकसभा चुनावों से जोड़कर के देखा जा रहा है क्योंकि अभी की हवा बीजेपी के पक्ष में है और यहाँ पर जाटो का बाहुल्य है तो कही न कही समझा जा सकता है की हरियाणा का जाट वोटबैंक बीजेपी के पक्ष में है और ये लोकसभा चुनावों में काफी मजबूती देने वाला साबित हो सकता है.