नरेंद्र मोदी ने काटी केजरीवाल की पतंग, मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

599

मकर संक्रांति का माहौल चल रहा है और आम आदमी से लेकर बड़े बड़े राजनेता भी पतंगबाजी के शौक से बच नही पा रहे है. राहुल गांधी ने सुबह से 126 बार धागा बांधकर पतंग उड़ाने की कोशिश की लेकिन सफल नही हो पाये. गुस्से में आकर सोनिया गांधी ने उन्हें लताड़ लगाते हुए कहा ‘तुमसे तो ये भी न हो पायेगा बेटा’. वही रेस कोर्स में माहौल गरम नजर आया जहाँ पर बचपन से पतंगबाजी में पारंगत नरेंद्र मोदी ने पतंग उडानी शुरू की और उनके साथी अमित शाह पास ही में ‘भगवा रंग की फिरकी’ लिये पकड़े रहे. वायर की पत्रकार आरफा खानम शेरवानी ने ट्वीट करते हुए लिखा ‘भाजपा में पतंगबाजी सिर्फ दो लोगो तक केन्द्रित है, नितिन गडकरी ने अपने आवास पर खड़े होकर अलग से पतंग उड़ाई जिस पर नारा था ‘नुन रोटी खायेंगे इंदिरा को जिताएंगे’

जिसे दिल्ली वालो ने दूरबीन लगा लगाकर देखा और 5 बजे इसी नारे पर बहस करने के लिये रोहित सरदाना मौलाना अंसार राजा और संबित पात्रा के साथ 5 बजे दंगल पर दिखाई देंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नरेद्र मोदी ने पतंग को इतनी ढील दे दी कि वो पतंग दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की छत पर लहराने लगा और कुछ ही देर में नरेंद्र मोदी ने केजरीवाल के पतंग से पेंच लड़ाते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री की पतंग काट दी जिसके बाद गुस्साये केजरीवाल ने मामला सुप्रीम कोर्ट में दायर किया.

अरविन्द केजरीवाल के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में दलील देते हुए कहा कि एलजी ने हमारे लिये मजबूत धागे का बजट अप्रूव नही किया जिसके चलते उन्हें सिलाई वाले धागे से पतंग उडानी पडी और फिर बीच में केंद्र सरकार की पतंग ने बीच में दखल देकर उनकी पतंग काट दी. सुप्रीम कोर्ट ने सभी बातो को संज्ञान में लेते हुए केंद्र सरकार उन्हें पक्का धागा उपलब्ध करवाने की मंजूरी दे दी है. हालांकि पीएम की पतंग केजरीवाल जी की छत पर आती है इस पर रोक लगाने से उन्होंने इनकार कर दिया है जिसके बाद अरविन्द केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी के डायनिंग हॉल में बैठकर धरना देने का फैसला किया है. वही राहुल गांधी ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कहा नरेंद्र मोदी के पास इतना लंबा धागा कहाँ से आया कि उनकी पतंग केजरीवाल जी की छत पर जा पहुँची?

इसकी जेपीसी जांच होनी चाहिये, राहुल गांधी ने कहा कि मैंने भी रेस कोर्स से पतंग उड़ाने की कोशिश की लेकिन वो उड़ नही पायी, लेकिन आप यकीन मानिये मैं उड़ा लेता तो भी ये इतना दूर नही जाती. इस धागे में घोटाला हुआ है और देश के साथ बहुत बड़ा धोखा हुआ है जिसकी सच्चाई सिर्फ और सिर्फ जेपीसी जांच से सामने आ सकती है. वही नरेंद्र मोदी ने ये बाते सुनकर धागा बनाने वाली सबसे बड़ी कम्पनी ‘तोता थ्रेड’ के सीईओ को बर्खास्त कर दिया है.